भगवान गणेश को सुख, समृद्धि और वैभव का देवता माना गया है। घर में भगवान गणेश की मूर्ति रखने से किसी प्रकार का क्लेश पैदा नहीं होता और घर सदा खुशियों से भरा रहता है। लेकिन वास्तु के अनुसार घर में गणपति की मूर्ति स्थापित करने से पहले कई तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए। जो इस प्रकार हैं—

दिशा का रखें ध्यान- गणेश जी को घर के उत्तर पूर्वी कोने में स्थापित करना सबसे शुभ होता है। घर का उत्तर पूर्वी कोना पूजा-पाठ के लिए बेहतर रहता है। आप गणेश जी को घर के पूर्व या फिर पश्चिम दिशा में भी रख सकते हैं। मूर्ति रखते समय ध्यान दें कि भगवान के दोनों पैर जमीन को स्पर्श कर रहे हों। इससे सफलता आपके कदम चूमेगी। भगवान गणेश को कभी भी घर के दक्षिण में नहीं रखना चाहिए। घर में जिस तरफ भी पूजा घर हो वहां टॉयलेट या कोई भी गंदगी नहीं होनी चाहिए।

अगर आप अपने ऑफिस या काम करने की जगह पर गणेश जी की मूर्ति रखना चाहते हैं, तो हमेशा ध्यान रहे कि ये भगवान गणेश की बैठी हुई मुद्रा में ना हों। बैठे हुए गणेश जी की सही जगह आपके घर में है। इससे घर में सुख-समृद्धि आती है। गाय के गोबर से बने गणेश जी काफी शुभ माने जाते हैं। इन्हें घर में रखने से घर में दुख कभी नहीं आता।

गणेश जी की सूंड का रखें ध्यान- अपने घर में हमेशा वही गणेश लाएं जिनकी सूंड बायीं तरफ झुकी हुई हो। अपने पूजा घर में गणेश जी की केवल एक ही मूर्ति रखें। दो या उससे ज्यादा गणेश जी रखने पर उनकी पत्नी रिद्धि-सिद्धि नाराज होती हैं।

घर में क्रिस्टल के गणेश जी रखने से सारे वास्तु दोष कट जाते हैं। आप घर में क्रिस्टल के छोटे गणेश जी रख सकते हैं। वहीं हल्दी से बने गणेश जी आपके भाग्य को चमकाते हैं। हल्दी के गणेश को घर में रखने से भाग्य आपका साथ कभी नहीं छोड़ता।

जब भी आप कभी गणेश जी की मूर्ति लेने जाएं, तो वही मूर्ति घर लाएं जिनमें मोदक और गणेश जी का वाहन चूहा भी हो वरना वो मूर्ति अधूरी रहेगी। गणेश जी को लकड़ी की किसी टेबल पर भी रख सकते हैं और उनके चरणों में एक कटोरी चावल चढ़ा देने से आपका भाग्य आपका साथ देने लगेगा।
 
पीपल के पेड़ के नीचे रखें- गणेश भगवान को पीपल, आम और नीम के पेड़ के नीचे रखना काफी शुभ माना जाता है। ऐसा करने से घर में सकारात्मकता आती है। अगर आपके घर में या बाहर पेड़ हो तो आप गणेश जी को वहां स्थापित कर सकते हैं।

हमेशा ध्यान रहे कि गणपति की मूर्ति कभी भी घर के उस कोने में ना रहे, जिस तरफ सोते समय आपके पैर रहते हों। सीढ़ियों के पास या नीचे भी गणेश को ना रखें क्योंकि उन्हीं सीढ़ियों पर आप चलते हैं और उस जगह पर अंधेरा भी होता है। ऐसा करना भगवान गणेश का अपमान होगा।