पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि वह राज्य के पार्टी अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को विधानसभा चुनाव में हराने की हर मुमकिन कोशिश करेंगे। सिंह ने कहा कि देश को ऐसे खतरनाक आदमी से बचाने के लिए वह कोई भी बलिदान देने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब के लिए एक खतरा हैं। सिंह ने कहा कि राज्य का सीएम बनने से रोकने के लिए 2022 के विधानसभा चुनावों में उनके खिलाफ एक मजबूत उम्मीदवार खड़ा करेंगे और उनको चुनाव में हराने के लिए काम करेंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कई मीडिया साक्षात्कारों में कहा है, वह (सिद्धू) राज्य के लिए खतरनाक हैं। अमरिंदर सिंह ने खुलासा किया कि उन्होंने तीन हफ्ते पहले सोनिया गांधी को इस्तीफे की पेशकश की थी, लेकिन उन्होंने उन्हें पद पर बने रहने के लिए कहा था। कैप्टन ने कहा, अगर उन्होंने मुझे फोन किया होता और मुझे पद छोडऩे के लिए कहा होता, तो मैं तुरंत इस्तीफा दे देता। एक सैनिक के रूप में, मुझे पता है कि मुझे अपना काम कैसे करना है और एक बार वापस बुलाए जाने पर कैसे लौट जाना है।

उन्होंने कहा, मैं विधायकों को गोवा या किसी जगह के लिए फ्लाइट में नहीं ले जाता। मैं इस तरह से काम नहीं करता। मैं नौटंकी नहीं करता और गांधी भाई-बहन जानते हैं कि यह मेरा तरीका नहीं है। अमरिंदर सिंह ने कहा कि प्रियंका गांधी और राहुल गांधी मेरे बच्चे जैसे हैं। कोई चीज ऐसे नहीं खत्म होनी चाहिए। मैं दुखी हूं। उन्होंने कहा कि राहुल और प्रियंका अनुभवी नहीं हैं, उनके सलाहकारों ने उन्हें पूरी तरह से गलत बात बताई है और वे उन्हें गुमराह कर रहे हैं। यह संकेत देते हुए कि वह अभी भी अपने राजनीतिक विकल्प खुले रख रहे हैं, पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वह अपने भविष्य के कार्यों पर निर्णय लेने से पहले अपने दोस्तों से बात कर रहे हैं। यह स्पष्ट करते हुए कि उन्होंने अपनी उम्र को एक बाधा के रूप में नहीं देखा, सिंह ने कहा, आप 40 साल की उम्र में भी उम्रदराज हो सकते हैं और 80 साल की उम्र में एक युवा की तरह हो सकते हैं।