अब जल्द ही आपको सड़कों पर दौड़ते वाहनों और एंबुलेंस में तेज हॉर्न बजाए बांसुरी, तबले, हारमोनियम और शंख जैसे पारंपरिक भारतीय वाद्य यंत्रों की आवाज सुनाई देगी। जी हां, इसको लेकर केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने ये घोषणा की है।

गडकरी हाल ही में राजस्थान के दौसा में निर्माणाधीन दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे के निरीक्षण के लिए आए थे। यहां उन्होंने कहा कि वाहनों के कर्कश हॉर्न की आवाज से लोगों को निजात दिलाने के लिए अब वाहनों में परंपरागत वाद्य यंत्रों की आवाज़ का इस्तेमाल होगा।

इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहित करने की केंद्र सरकार की नीति का हवाला देते हुए गडकरी ने घोषणा कि है कि जयपुर से दिल्ली के बीच इलेक्ट्रिक वाहन हाईवे बनाए जाने की तैयारी है और इस हाइवे पर सिर्फ़ इलेक्ट्रिक वाहन ही चल सकेंगे।

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने इस दौरान एक बड़ी घोषणा भी की। उन्होंने ऐलान किया कि देश में स्कूटर, मोटर साइकिल, और ऑटो रिक्शा अब महंगे पेट्रोल की जगह एथेनॉल से चलेंगे। केंद्र सरकार इसके लिए जल्द ही क़ानून बनाने जा रही है। उन्होंने कहा कि पेट्रोल का भाव एक सौ दस रुपए प्रति लीटर है जबकि एथेनॉल का भाव पैंसठ रुपए प्रति लीटर ही है।