असम NRC लिस्ट में जिन लोगों का नाम नहीं आया है उनको 10 सितंबर से नोटिस मिलने लगेंगे। राष्ट्रीय नागरिक पंजी ( NRC ) के फाइनल ड्राफ्ट की अंतिम सूची के प्रकाशन के बाद ही राज्य में अराजकता का माहौल बना हुआ है। इससे पहले पहले यह कहा जा रहा था कि सूची के प्रकाशन के बाद जिनके नाम नहीं रहेंगे उन्हें 2 सितंबर से विदेशी न्यायाधिकरणों में अपील करनी होगी। लेकिन अब खबर है कि 10 सितंबर से उन लोगों को ही नोटिस दिया जाएगा जिनके नाम सूची में नहीं हैं।

नोटिस मिलने के बाद लोग 120 दिनों के अंदर विदेशी न्यायाधिकरण में अपील कर सकते हैं। हालांकि अभी तक 200 नए न्यायाधिकरण पूरी तरह तैयार नहीं हैं। कहा जा रहा है कि 1 अक्टूबर से ये काम करना शुरू करेंगे। पहले के जो 100 न्यायाधिकरण हैं उनमें से 79 में ही सदस्य हैं, बाकी में सदस्य नहीं हैं। नए सदस्यों की नियुक्ति प्रक्रिया अब तक पूरी नहीं हुई है। इसलिए नाम सूची में न रहने वाले लोगों को 1 अक्टूबर तक अपील के लिए इंतजार करना होगा। नए 221 सदस्यों की नियुक्ति प्रक्रिया चल रही है। एक-दो दिन में इनका प्रशिक्षण शुरू होगा। 29-30 सितंबर तक इन्हें नियुक्ति पत्र दिया जाएगा। एक अक्टूबर से वे अपने-अपने न्यायाधिकरण की जिम्मेदारी लेंगे।

एनआरसी की अंतिम सूची में नाम नहीं आने वालों को जिला उपायुक्त, सर्कल अधिकारी के कार्यालय की ओर से नोटिस 10 सितंबर से मिलना शुरू हो जाएंगे। इस नोटिस के बाद ही वे न्यायाधिकरण में अपील कर सकेंगे। गौरतलब है कि सरकार को नए एक हजार न्यायाधिकरण बनाने हैं। लेकिन वह फिलहाल दो सौ बना रही है। एनआरसी में नाम न रहने वाले 19 लाख से अधिक लोगों की अपील के लिए और अधिक जल्द ही नए न्यायाधिकरण बनाने होंगे। सरकार ने कहा है कि 200 बनने के बाद फिर वह नए 200 के लिए काम शुरू किया जाएगा।