आज के समय में दूध, घी, तेल, फल, सब्जियों और दालों समेत तमाम खाने की चीजों में मिलावट हो रही है। लेकिन अब आपकी रसोई में मौजूद हल्दी, मिर्च (red chilli powder) और धनिया पाउडर भी इस मिलावट के लपेटे में आ चुके हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि अब ईंट व साबुन का पाउडर हल्दी व लाल मिर्च पाउडर में मिलाकर बेचा जा रहा है।

फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने हाल ही में उपभोक्ताओं को जागरूक करने के लिए अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो जारी किया है। इस वीडियो में बताया गया है कि बाजार में बिकने वाले हल्दी में कैमिकल वाले रंगों का प्रयोग कर मिलावटखोर उसकी क्वॉलिटी को खराब कर सकते हैं। कैमिकल वाले रंग हमारी सेहत के लिए घातक साबित हो सकती हैं।


यह भी पढ़ें— गजब! यहां गोल-गोल घूमकर जान दे रहे हजारों पक्षी, वैज्ञानिकों ने दी इतनी बड़ी चेतावनी


अब मार्केट मे मिलने वाली पिसी हुई लाल मिर्च (red chilli powder) में ईंट का चूर्ण, टाक पाउडर, साबुन या रेत डालकर उसें बेचा जा रहा है। ऐसे में अब बाजार से इन मसालों को खरीदते वक्त आपको बहुत सावधान रहने की जरूरत है। FSSAI ने इस जालसाजी से बचने की तरकीब भी ट्विटर पर वीडियो के माध्यम से शेयर की है।

लाल मिर्च में ईंट का चूर्ण या फिर रेत जैसी चीजें मिली हुई है या नहीं इसकी पहचान करने के लिए पानी का एक आधा भरा हुआ ग्लास लें। उसमें एक चम्मच लाल मिर्च पाउडर डालें। मिर्च को चम्मच से हिलाए बिना गिलास की तलहटी तक जाने दें। इसके बाद भीगे हुए मिर्च पाउडर को हथेली पर हल्के हाथ से रगड़ें। इसे रगड़ते वक्त अगर आप किरकिरापन महसूस होता है तो समझिए यह मिलावटी है। अगर आपको चिकनापन महसूस हो रहा है तो समझिए कि इसमें साबुन के पाउडर का इस्तेमाल हुआ है।इसी तरह आप हल्दी को भी जांच सकते हैं। इसके लिए कांच का गिलास पानी से आधा भरें। फिर इसमें एक चम्मच हल्दी (Turmeric) डालें। अगर हल्दी पूरी तरह से तलहटी में बैठ जाती है और पानी का रंग हल्का पीला पड़ता है तो समझिए इसमें कोई शिकायत नहीं है। वहीं अगर हल्दी पूरी तरह से नीचे नहीं बैठती और पानी का रंग भी बहुत ज्यादा पीला हो जाता है तो समझें यह मिलावटी (Adulteration in Turmeric) है।