केंद्र सरकार (central government) द्वारा विमानन कंपनी एयर इंडिया (Aviation company Air India) को टाटा समूह (Tata Group) को सौंपने के बाद गुरुवार से संचालन का हक टाटा को मिल जाएगा। इसके साथ ही टाटा अपनी उड़ानों में कुछ परिवर्तन करने जा रही है। उनमें से वह सबसे पहले अच्छा नाश्ता देने की शुरुआत करेगी। निजी कंपनी के अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि टाटा समूह ने गुरुवार को मुंबई से संचालित होने वाली चार उड़ानों में ‘उन्नत भोजन सेवा’ शुरू करके एयर इंडिया (Air India) में अपना पहला कदम उठाया है।

हालांकि, गुरुवार से एयर इंडिया की उड़ानें टाटा समूह के बैनर तले उड़ान नहीं भरेंगी। गौरतलब है कि करीब 69 साल पहले (69 years ago) टाटा समूह से विमानन कंपनी को सरकार ने अपने हाथों में लिया था। जिसे फिर से टाटा समूह को सौंपा जा रहा है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

सरकार ने निलामी के बाद आठ अक्टूबर को 18,000 करोड़ रुपए में एयर इंडिया को टैलेस प्राइवेट लिमिटेड को बेच दिया था। यह टाटा समूह की होल्डिंग कंपनी की अनुषंगी इकाई है। अधिकारियों ने  बताया कि सभी औपचारिकताएं पूरी होने वाली हैं। एयर इंडिया को गुरुवार को समूह को सौंप दिए जाने की संभावना है।

गौर हो कि दो एयरलाइन पायलट यूनियन (airline pilots union), इंडियन पायलट गिल्ड (IPG) और इंडियन कमर्शियल पायलट एसोसिएशन (ICPA) ने एयर इंडिया के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक विक्रम देव दत्त (Air India Chairman and Managing Director Vikram Dev Dutt) को कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है। इसकी वजह है पायलटों की बकाया राशि पर कई कटौतियां।