असम के सभी सरकारी अस्पतालों में मरीजों के सीटी स्कैन,एक्सरे और ब्लड टेस्ट फ्री में होंगे। यह सुविधा मेडिकल कॉलेजों में नहीं मिलेगी। स्वास्थ्य मंत्री हिमंता बिस्व शर्मा ने विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान यह जानकारी दी। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल 11 मई को इस नई स्कीम का उद्घाटन करेंगे। यह सर्विस निजी संगठन को आउटसोर्स की गई है लेकिन कॉस्ट का वहन सरकार करेगी। 

फ्री एक्स-रे सर्विस पहले चरण में 35 सरकारी अस्पतालों में शुरू की जाएगी। बाद में इसे 500 अस्पतालों और हेल्थ सेंटर्स में शुरू किया जाएगा। 60 प्रकार के ब्लड टेस्ट सरकारी अस्पतालों में फ्री में किए जाएंगे। मरीजों को यह सुविधा 24 घंटे मिलेगी। शर्मा ने कहा कि सर्विस की क्वालिटी वैसी ही होगी जैसी निजी नर्सिंग होम्स में होती है और टेस्ट के नतीजे उसी दिन शाम को बता दिए जाएंगे। सरकार ने इस सर्विस को मेडिकल कॉलेजों से जुड़े अस्पतालों में शुरू नहीं करने का फैसला किया है। ऐसा मरीजों की संख्या को कम करने के लिए किया गया है। 

जिला अस्पतालों में फ्री में टेस्ट होने के कारण मरीजों को किसी तरह की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा। टेस्ट रिपोर्टें मेडिकल कॉलेजों से जुड़े अस्पतालों में आएगी। शर्मा ने बताया कि इस वक्त 200 अस्पताल निर्माणाधीन हैं। इनमें मॉडल अस्पताल और टी गार्डन अस्पताल शामिल है। हमने फैसला किया है कि पहले उन अस्पतालों का निर्माण कार्य पूरा किया जाए जो निर्माणाधीन हैं, उन्हें 2018-19 के वित्त वर्ष के दौरान शुरू कर दिया जाए। इसके बाद नए अस्पतालों का कंस्ट्रक्शन शुरू होगा। 

असम गण परिषद के पी.भूषण चौधरी ने कहा कि इस तरह की शिकायतें आई है कि गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल आईसीयू में बेड की पर्याप्त संख्या नहीं होने का हवाला देकर गंभीर मरीजों को भर्ती नहीं कर रहा है। इस पर शर्मा ने कहा कि सरकार ने गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में अलग आईसीयू वार्ड बनाने का फैसला किया है। इसके लिए फंड्स का आवंटन 2017018 के बजट में किया जाएगा। 

हम जीएमसीएच में कैबिन्स की संख्या में बढ़ोतरी की कोशिश भी कर रहे हैं। इस वक्त राज्य के मेडिकल कॉलेजों में 323 आईसीयू बेड हैं। इनमें जीएमसीएच के 172 आईसीयू बेड शामिल हैं। 28 आईसीयू बेड डिब्रूगढ़ स्थित असम मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में हैं। 19 सिलचर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल, 48 जोराहट मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल, 20 बारपेटा स्थित फखरुद्दीन अली अहमद मेडिकल कॉलेज एव अस्पताल में हैं। 36 आईसीयू बेड तेजपुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में हैं।