फ्रांस में इस्लाम की आड़ में टीचर हत्याकांड को लेकर आतंकवादियों ने आतंक मचाना शुरू कर दिया है। अब तक फ्रांस के दो चर्च पर आतंकी हमला हो चुका है और इस्लाम को लेकर सऊदी अरब, रूस और कनाडा में भी कई मासूमों को मौत के घाट उतार दिया है। दिन ब दिन यह घटनाएं बढ़ती जा रहा है। इन सभी घटनाओं को देखते हुए इस्लामिक लोगों ने फ्रांस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस्लाम के नाम पर आतंकवादी भी कई तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं।


इन सभी को  मद्देनजर रखते हुए फ्रांस की सरकार ने एक कदम उठाया है। जिसमें मध्य माली में एक सैन्य ऑपरेशन के दौरान उन्होंने अल-क़ायदा-आतंकवादी से जुड़े 50 से अधिक आतंकवादियों को मार गिराया हैं। फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली ने ट्वीट कर इस सैन्य स्ट्राइक ऑपरेशन का खुलासा किया है। ट्वीट पर फ्लोरेंस पार्ली ने यह भी लिखा है कि माली में स्ट्रारइक ऑपरेशन से 50 से अधिक जेहादियों को मौत के घाट उतार और सेना ने भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक भी जब्त किए हैं।


फ्लोरेंस पार्ली ने बात आगे बढ़ाते हुए कहा कि हमें आतंक के खिलाफ लड़ाई लड़नी है और आतंकवाद को खत्म करना है। जानकारी के लिए फ्लोरेंस पार्ली ने बताया कि इस स्ट्रााइक ऑपरेशन को बुर्किना फासो और नाइजर की सीमा के पास अंजाम दिया गया है। बताया जा रहा कि यह सेना मजहबी कट्टरपंथियों के खिलाफ लड़ रही है। आतंकियों के खिलाफ जंग जारी रहेगी जब तक आतंकवाद खत्म नहीं हो जाता और आतंकवादियों से हार नहीं मानेगे।