फ्रांस सरकार देश में आतंकी हमलों पर लगाम लगाने के लिए सख्त कदम उठा रही है। सरकार की ओर से मुस्लिम कट्टरपंथियों के खिलाफ जांच तेज कर दी है। यहां पर मस्जिदों की जांच की रही है। जहां सरकार को लग रहा है वहां पर सरकार मस्जिदों पर ताला लगाने की तैयारी कर रही है। फिलहाल 76 मस्जिदों पर ताला लग सकता है।

फ्रांस के होम मिनिस्टर गेराल्ड डेरमैनियन ने कहा कि मस्जिदों की जांच की जा रही और कट्टरपंथ को बढ़ावा देने वाले संगठनों पर बैन लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिन मस्जिदों के खिलाफ भी सबूत पाए गए, उन पर ताला लगना तय है। सरकार को जांच में पता चला है कि देश में कुछ जगहों से कट्टरता और अलगाववाद को बढ़ावा दिया जा रहा है और इनके खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएंगे।

होम मिनिस्टर ने कहा कि आतंकवाद को बढ़ावा देने के कारण कुछ मस्जिदों को बंद किया जा सकता है। पेरिस के एक उपनगरीय इलाके की मस्जिद को पहले ही 6 महीने के लिए बंद किया जा चुका है क्योंकि अक्टूबर में इतिहास शिक्षक सैमुअल पैटी की हत्या करने वाला आतंकवादी इसी मस्जिद से संबंधित था। वह आतंकवादी मूल रूप से चेचेन्या का रहने वाला था और गैर कानूनी तौर पर फ्रांस में रह रहा था।

गौरतलब है कि फ्रांस में अक्टूबर में एक हिस्ट्री टीचर का सिर काटकर उसे मौत के घाट उतार दिया गया था। इसके बाद नीस शहर में एक कट्टरपंथी ने तीन लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। इसके बाद सरकार और फ्रांस के लोगों का धैर्य खत्म हो गया। इन घटनाओं से एक्शन मोड में आए होम मिनिस्टर ने कहा कि आने वाले दिनों में हर संदिग्ध स्थान की जांच की जाएगी।