भारत बंद के दौरान एक रेलवे ट्रैक पर इतने सारे बम मिले हैं कि यदि वो फट जाते तो हजारों जिंदगियां मौत के मुंह में चली जाती। यह घटना पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले की है जहां पुलिस ने रेलवे ट्रैक से 4 सॉकेट बम बरामद किए हैं। ये बम दक्षिण बारासात रेलवे स्टेशन से आज बरामद हुए हैं। इससे पहले पुलिस ने हृदयपुर रेलवे स्टेशन के पास से 4 देसी बम बरामद किए थे। साथ ही, वेस्ट बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बंद को लेकर वामपंथी दलों पर जमकर हमला बोला। 

आपको बता दें कि देश की कई बड़ी ट्रेड यूनियनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद को लेकर हावड़ा और कंचापारा प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक ब्लॉक किया। कई जगह पर बस सेवाओं को बाधित किया गया। वहीं कूचबिहार में प्रदर्शनकारियों के द्वारा बस में तोड़फोड़ की गई है, बर्धवान में टीएमसी और एसएफआई के कार्यकर्ताओं में आपस में भिडंत भी हुई।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि सीपीएम की कोई विचारधारा नहीं है। उन्होंने कहा, 'रेलवे ट्रैक्स पर बम लगाना 'गुंडागर्दी' है। आंदोलन के नाम पर यात्रियों को पीटा जा रहा है, उन्हें पत्थर मारे जा रहे हैं। यह आंदोलन नहीं, 'दादागिरी' है। मैं इसकी निंदा करती हूं'

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि उनके (लेफ्ट पार्टियों) के द्वारा बुलाए गए बंद पहले भी कई बार खारिज किए जा चुके हैं। वे बंद बुलाकर और बसों में बम फेंककर सस्ती पब्लिसिटी पाना चाहते हैं। इस पब्लिसिटी को हासिल करने के बजाय, राजनीतिक मौत बेहतर है।

आपको बता दें कि इस बंद में इंटक, एटक, सीटू, एआईयूटीयूसी, एआईसीसीटीयू, एलपीएफ, एचएमएस, टीयूसीसी, एसईडब्ल्यूए, यूटीयूसी समेत विभिन्न संघ व फेडरेशन शामिल हैं। वहीं आरएसएस से जुड़ा मजदूर संगठन भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस) इस बंद में शामिल नहीं है।