नई दिल्ली। भारत की पूर्व महिला हॉकी कप्तान एलवेरा ब्रिटो ने 60 के दशक में हॉकी जगत में अपना लोहा मनवाया था। उनका मंगलवार सुबह तड़के बेंगलुरु में निधन हो गया।

यह भी पढ़े : Diamond Crossing: भारत का अनोखा रेलवे ट्रैक, यहां चारों दिशाओं से आती है ट्रेनें फिर भी आज तक नहीं हुई कोई टक्कर

एलवेरा और उनकी दो बहनें रीटा और माय महिला हॉकी में सक्रिय थीं और 1960 और 1967 के बीच कर्नाटक के लिए खेली थीं, इस दौरान उन्होंने तीन बहनों के साथ सात राष्ट्रीय खिताब जीते थे।

एलवेरा को 1965 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया और वह ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका और जापान के खिलाफ भारत के लिए खेली थीं।

यह भी पढ़े : VASTU TIPS: घर में आईना लगवाते समय उसकी दिशा का विशेष ख्याल रखें, इस दिशा में लगाने से बचें


हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ज्ञानेंद्रो निंगोमबम ने कहा, 'एलवेरा ब्रिटो के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ। उन्होंने महिला हॉकी में बहुत कुछ हासिल किया और एक प्रशासक के रूप में राज्य खेल की सेवा करना जारी रखा। हॉकी इंडिया और पूरी हॉकी बिरादरी की ओर से, हम उनके परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं।'