पूर्व केन्द्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद (salman khurshid) ने रविवार को कहा कि उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव (up elections 2022) में उनकी पार्टी अकेले ही किस्मत आजमाएगी और किसी अन्य दल से गठबंधन नहीं करेगी। 

कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष (salman khurshid)  ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पार्टी इस बार चुनाव में किसी भी दल से गठबंधन नहीं करेगी। उन्होंने चुनाव के मद्देनजर विभिन्न दलों के बीच हो रहे गठबंधन से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा, पार्टी अपने बलबूते ही चुनाव लडेगी। उन्होंने कांग्रेस के चुनाव घोषणापत्र (Congress election manifesto) के बारे में बताया कि इस बार चुनाव कार्यक्रम की घोषणा से पहले ही पार्टी का अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी कर दिया जायेगा। साथ ही महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के अपने वादे को पूरा करते हुए कांग्रेस चुनाव में 40 प्रतिशत से अधिक महिलाओं को टिकट देगी। 

उल्लेखनीय है कि हाल ही में कांग्रेस महासचिव और प्रदेश कांग्रेस प्रभारी प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में लगभग आधी सीटों पर महिलाओं को टिकट देने का वादा किया था। खुर्शीद  (salman khurshid) ने कहा, इस बार पार्टी अपना चुनावी घोषणा पत्र अति शीघ्र जारी करेगी। उन्होंने कहा कि चुनाव के समय अधिकांश नेता और कार्यकर्ता चुनावी कार्यो में व्यस्त हो जाते है। इसलिये घोषणा पहले ही जारी कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपने घोषणा पत्र में गेहूं और धान के लिए 2500 रुपये और गन्ना के लिए 400 रुपये न्यूनतम समर्थन मूल्य देने के वादे को शामिल करेगी। खुर्शीद ने कोरोना महामारी जैसी आपदा से निपटने के लिये मौजूदा कानूनी प्रावधानों से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा कि मौजूदा आपदा कानून में संशोधन की आवश्यकता है। क्योंकि इस कानून में लोगों को संकट से बचाने के लिये पर्याप्त प्रावधान नहीं है। 

उन्होंने कहा कि इस कानून के अन्तर्गत अर्थव्यवस्था को भी संकट से बचाना जरूरी है। इस कानून में टीकाकरण, इलाज व अर्थव्यवस्था को सुरक्षित रखने के लिए जरूरी संशोधन होना चाहिए। खुर्शीद ने कहा कि कोरोना काल में बिजली का संकट रहा, कारखाने और दुकानें बंद रही। इस दौरान बिजली के बिल यथावत आते रहे। कांग्रेस अपने घोषणा पत्र में उपभोक्ताओं के बिजली के बिल आधे करेगी। साथ ही कांग्रेस की उत्तर प्रदेश में सरकार बनने पर उन परिवारों को 25 हजार रुपये की आर्थिक सहायता भी दी जाएगी जिन्होंने कोरोना काल में अपने परिजनों को खोया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में 20 लाख लोगों को सरकारी नौकरी देने का वादा भी शामिल किया जायेगा।