अगरतला  । डेढ़ महीने पहले तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) से निकाले गए छह विधायक भाजपा में शामिल हो गए हैं। त्रिपुरा विधानसभा अध्‍यक्ष रमेंद्र चंद्र देबनाथ से भाजपा सदस्‍य के रूप में उन्‍हें मान्‍यता प्रदान करने का अनुरोध किया गया है।

 देबनाथ ने बुधवार को बताया कि उन्‍हें त्रिपुरा भाजपा अध्‍यक्ष बीपलब कुमार देब से एक पत्र मिला है, जिसमें छह विधायकों को पार्टी सदस्‍य के रूप में मान्‍यता प्रदान करने को कहा गया है।

जवाब में देबनाथ ने विधायकों को व्‍यक्तिगत तौर पर या एक साथ एक पत्र सौंपने को कहा है, जिसमें लिखा हो कि वे अपना समर्थन तृणमूल कांग्रेस से भाजपा को दे दिया है। देबनाथ ने आगे बताया कि विधायकों से पत्र प्राप्‍त होने के बाद वह उन्‍हें आमंत्रित करेंगे और इस संबंध में जरूरी प्रक्रिया शुरू करेंगे। देब ने विधायकों में से एक दीबा चंद्रा को भाजपा विधायक समूह के नेता के रूप में मान्‍यता देने का अनुरोध भी किया है।

गौरतलब है कि बीते सात अगस्‍त को सुदीप रॉय बर्मन के नेतृत्‍व में आशीष कुमार साहा, दीबा चंद्रा, बिस्‍वा बंधु सेन, प्रांजित सिंह रॉय और दिलीप सरकार ने भाजपा का दामन थामा था। साथ में सैकड़ों पूर्व टीएमसी नेता और कार्यकर्ता भी भाजपा में शामिल हुए थे।

त्रिपुरा विधानसभा अध्‍यक्ष के अनुसार, विधायकों को अभी भी तृणमूल कांग्रेस के विधायक के तौर पर मान्‍यता प्राप्‍त है। आदिवासी नेता के रूप में जाने जाने वाले दीबा चंद्रा ने कहा कि विधानसभा अध्‍यक्ष द्वारा उन्‍हें मान्‍यता प्रदान किए जाने के बाद भाजपा 60 सदस्‍यीय विधानसभा में मुख्‍य विपक्षी पार्टी हो जाएगी।