जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के पूर्व महासचिव और पूर्व सांसद पवन वर्मा मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए। वर्मा ने आज यहां पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात के बाद पार्टी की सदस्यता ली। उन्होंने तृणमूल में शामिल होने के बाद संवाददाताओं से कहा कि आज की राजनीतिक परिस्थितियों में विपक्ष का मजबूत होना जरूरी है। 

मौजूदा हालात में विपक्ष को सही नेतृत्व देने की क्षमता सिर्फ सुश्री बनर्जी के पास है। उन्होंने कहा कि हम सुश्री बनर्जी को 2024 के आम चुनावों के बाद दिल्ली में देखना चाहते हैं। भारतीय विदेश सेवा के पूर्व अधिकारी श्री वर्मा जदयू के पूर्व महासचिव, राज्य सभा सांसद और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सलाहकार रह चुके हैं। 

उन्हें 2020 में जेडीयू से निष्कासित किया गया था। इससे पहले बनर्जी से प्रसिद्ध गीतकार और पूर्व सांसद जावेद अख्तर और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सलाहकार रहे सुधींद्र कुलकर्णी ने भी मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद श्री कुलकर्णी ने कहा कि सुश्री बनर्जी से उनकी मौजूदा राजनीतिक और गैर राजनीतिक मसलों पर सामान्य चर्चा हुई।