पूर्व कांग्रेस विधायक को करोड़ों के घोटाले के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। यह घटना असम की है जहां क्रिमिनल इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट ने सोनाई विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक इनामुल हक लश्कर को गिरफ्तार किया है। लश्कर पर सिंचाई विभाग में करोड़ों रूपयों के घोटाले का अरोप है। उनकी गिरफ्तारी गुवाहाटी से हुई है।

सूचना के अनुसार 2006 से 2011 तक पूर्ववर्ती कांग्रेस में रहते हुए लश्कर 270 करोड़ रूपयों के घोटाले में शामिल थे। यह घोटाला राज्य के सिंचाई विभाग में किया गया था। असम के सिंचाई विभाग में पूर्व विधायक लश्कर की 2009 में स्पेशल ड्यूटी लगाई गई थी जिसके बाद वो अपने रिटायरमेंट तक वहीं रहे।

इस मामले में सिंचाई विभाग के यूडी असिस्टेंट माथुर चंद्र नाथ ने 26 नवंबर 2012 में आत्महत्या कर ली थी। आत्महत्या से पहले माथुर ने 22 पेज का सुसाइड नोट लिखा जिन्होंने लश्कर पर अपने पद पर रहते हुए करोड़ों रूपयों के घोटाले का आरोप लगाया था। इस लेटर में बताया गया है कि पूर्व विधायक ने घोटाले के पैसे 2011 विधानसभा चुनावों में लगाए थे।

इस केस में पहले से ही पुतुल भागबती, धीरेन डेका, तरालिक्या मोहन कालिता और रितुपर्ना बोरा गिरफ्तारी हो चुकी है।