किदांबी श्रीकांत (Kidambi Srikanth) ने भारत का इतिहास रच दिया है। किदांबी श्रीकांत ने विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप (World Badminton Championship) के पुरुष एकल फाइनल में हमवतन लक्ष्य सेन को 17-21, 21-14, 21-17 से हराकर भारतीय बैडमिंटन के इतिहास में एक नया अध्याय दर्ज किया।
किदांबी श्रीकांत (Kidambi Srikanth) का स्पेन के ह्यूएलवा में प्रदर्शन, जब उन्होंने 34 सप्ताह में अपना पहला फाइनल बनाया, अब फाइनल में उनका आत्मविश्वास अच्छा होना चाहिए।

पहले गेम में देखने लायक मुकाबला था। लक्ष्य ने छठे अंक के बाद एक ऊपरी हाथ हासिल किया और 11-8 की बढ़त के साथ ब्रेक में चला गया। इसके बाद, जब युवा खिलाड़ी 15-11 से आगे चल रहा था, श्रीकांत ने तीन स्मैश के साथ वापसी करते हुए इसे 16-16 से बराबर कर दिया। हालांकि, 17-17 पर श्रीकांत एक सिटर से चूक गए और नेट मिल गया। इसके बाद उन्होंने दो और अप्रत्याशित त्रुटियों के साथ अगले तीन अंक गंवाए।
परिणाम (SF):

पुरुष: किदांबी श्रीकांत (भारत) बीटी लक्ष्य सेन (भारत) 17-21, 21-14, 21-17।

महिला: ताई त्ज़ु यिंग (चीनी ताइपे) बीटी हे बिंग जिओ (सीएचएन) 21-17, 13-21, 21-14; अकाने यामागुची (जेपीएन) बीटी झांग यी मान 21-19, 21-19।