रिमझिम बारिश हो या फिर कड़कड़ाती ठंड, दोनों ही मौसम में बालकनी में बैठकर मूंगफली खाने का स्वाद ही कुछ और होता है। करारी मूंगफली का स्वाद बच्चों से लेकर बड़ों तक को खूब पसंद आता है। वहीं अगर हवा लगने से मूंगफली सॉफ्ट हो जाती है तो इनका स्वाद भी खराब लगने लगता है। ऐसे में अगर आप भी लंबे समय तक मूंगफली के दानों को भूनने के बाद उन्हें क्रिस्पी और स्वादिष्ट बनाए रखना चाहती हैं तो फॉलो करें मूंगफली को भूनने और स्टोर करने के ये आसान टिप्स। 

मूंगफली को क्रिस्पी बनाने के लिए गैस की फ्लेम धीमी करके सबसे पहले पैन को अच्छी तरह गरम कर लें। इसके बाद इसमें बहुत थोड़ा सा घी या तेल डालकर मूंगफली के दाने रोस्ट करें। इन दानों को धीमी से मध्यम आंच पर लगभग 5 -7 मिनट तक भूनें। यदि आप तेज आंच पर इन्हें भूनती हैं तो ये क्रिस्पी होने की जगह जलने लगते हैं। इन्हें भूनने के बाद ठंडा होने दें और उसके बाद इसमें कोई मसाले या नमक मिलाकर खाएं। इससे ये काफी देर तक क्रिस्पी बनी रहती है।

अगर आपको मूंगफली के दानों को ज्यादा लंबे समय तक स्टोर करना है तो इसमें किसी तरह का कोई मसाला या नमक न मिलाएं। स्टोर करने से पहले अच्छी तरह से इन्हें भूनकर ठंडा कर लें। ठंडा करने के बाद सभी मूंगफली के दाने के छिलके हटा दें। छिलके निकालकर स्टोर करने से मूंगफली दाने काफी लंबे समय तक क्रिस्पी और स्वादिष्ट बने रहते हैं। जब कभी आपका मूंगफली खाने का मन करें तो उससे थोड़ी देर पहले मूंगफली के दानों को माइक्रोवेव या कढ़ाही में हल्का सा रोस्ट करके नमक और मसाला मिला लें। 

मूंगफली दानों को अगर आप कुछ महीनों के लिए स्टोर करने वाले हैं तो इन्हें स्टोर करने के लिए कांच के कंटेनर का इस्तेमाल करें। प्लास्टिक कंटेनर में कई बार रोस्टेड पीनट्स से स्मेल आने लगती है और ये सील जाते हैं। स्टोर करते समय ज्यादा बड़े डिब्बे का इस्तेमाल न करें बल्कि उतना बड़ा ही डिब्बा इस्तेमाल करें जिसमें ऊपर तक मूंगफली के दाने भर सकें। ऊपर से खाली जगह छोड़ने पर इसमें नमी आ सकती है।