दुनियाभर में तबाही मचाने वाला कोरोना वायरस (covid19) चीन की ही देन है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की जांच में इस बात का खुलासा हुआ है। डब्ल्यूएचओ (WHO) के अनुसार चीन के वुहान के एनिमल मार्केट (wuhan animal market) में एक महिला वेंडर कोविड-19 से सबसे पहले संक्रमित हुई थी। 

मीडिया रिपोर्ट का दावा है कि कोरोना से संक्रमित महिला वेंडर (corona infected female vendor) चीन के मध्य में स्थित वुहान शहर हुआनान में जिंदा जानवरों के बाजार में काम करती थी। यहीं से साल 2019 के अंत में कोरोना के मामले तेजी से फैलने शुरू हुए थे। इससे पहले एक अकाउंटेंट को कोरोना का पहला केस बताया जा रहा था। 16 दिसंबर 2019 को इस अकाउंटेंट को कोरोना के शुरुआती लक्षण देखने को मिले थे। यूनिवर्सिटी ऑफ एरिजोना (University of Arizona) में इकोलॉजी और इवोल्यूशनरी बायोलॉजी विभाग के प्रमुख माइकल वोरोबी के अनुसार जांच में पता चला है कि अकाउंटेंट कोरोना का पहला केस नहीं था। बल्कि वहां के एनिमल मार्केट में काम करने वाली महिला सबसे पहले संक्रमित हुई थी। 

महिला में 8 दिसंबर 2019 को कोरोना (covid19) के लक्षण दिखे थे। इस बात से डिजीस इकोलॉजिस्ट पीटर डैसजैक भी सहमत हैं। पीटर के अनुसार डब्ल्यूएचओ (WHO) की स्टडी सही है, मैं उस समय गलत था। हालांकि कुछ एक्सपोर्ट अभी इस बात से पूरी तरह सहमत नहीं हैं। उनका मानना है कि सी फूड से कोरोना फैला अभी भी जांच का विषय है।