भागलपुर जिले के रंगरा सहायक थाना क्षेत्र के एक गांव में जमीन विवाद की पंचयती के क्रम में गोली मार कर हत्या कर दी गई ।  एनएच-31 पर स्थित एक ढाबे पर वारदात को अंजाम दिया गया।  उक्त घटना के बाद आक्रशित परिजनों ने भारी बवाल काटा।  गुरुवार को सुबह करीब 11 बजा जमीन विवाद की पंचयती के क्रम में ही भवानीपुर गांव निवासी रिटार्यड फौजी 42 वर्षीय अजय यादव को गोली मारी गई। 

घायल अवस्था मे अजय यादव को नवगछिया अनुमंडलीय अस्पताल लाया गया जहां इलाज के क्रम में उन्हें मृत घोषित कर दिया।  घटना के बाद परिजन काफी आक्रोशित थे।  नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में पुलिस और पत्रकारों को भी परिजनों की तल्खी का सामना करना पड़ा।  घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची नवगछिया और रंगरा थाने की पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में पोस्टमार्टम की प्रक्रिया को शुरू करवाया। 

दोपहर बाद तक शव का पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को सौंप दिया गया था।  दूसरी तरफ नवगछिया के एसपी सुशांत कुमार सरोज के निर्देश पर पुलिस की एक टीम को अपराधियों की गिरफ्तारी के लिये सक्रिय किया गया है।  जानकारी के अनुसार घटना का कारण दस कट्ठा जमीन को ले कर दो पक्षों के बीच का विवाद बताया जा रहा है। 

भवानीपुर गांव के ही गोपाल यादव उर्फ गोपी सरदार और रिटायर्ड फौजी अजय यादव के बीच 10 कट्ठा जमीन को लेकर विवाद चल रहा है।  मृतक के भाई विजय यादव ने बताया कि गुरुवार सुबह गोपी सरदार विवादित जमीन पर निर्माण कार्य करवा रहा था।  जिस पर रिटार्यड फौजी ने गोपी सरदार को बातचीत करने के लिए बुलाया।  अजय यादव के अर्धनिर्मित ढाबे पर ही दोनों पक्षों के लोग बैठे कर सुलह का रास्ता निकालने का प्रयास कर रहे थे। 

इसी बीच चार चक्का वाहनों पर करीब 20 लोगों के साथ मौके पर गोपी सरदार का पुत्र धनंजय यादव पहुंच गया।  करीब पांच से छः लोगों के पास हथियार भी था।  जबतक लोग कुछ समझ पाते तब तक धनंजय यादव थ्री नट लेकर अजय यादव के करीब पहुंच गया और काफी नजदीक से उसे गोली मार दी। 

मृतक के भाई विजय यादव ने कहा कि गोली मारने के बाद वे लोग धनंजय यादव को पकड़ना चाह रहे थे लेकिन धनंजय के चालक मिथिलेश उर्फ मिथला यादव ने रायफल से फायर कर दिया तो दूसरी तरफ अपराधी पथराव करने लगे और वहां से भाग गए।  मृतक के भाई ने बताया कि घटना के बाद रिटायर्ड फौजी गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उन्हें इलाज के लिये नवगछिया अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। रंगरा थाने में घटना की प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।