इस बार की दीपावकी कोरोना काल के कारण अनोखी होने वाली है। यह एक ऐसी दीपावली होगी की इस में आप खुशियों से किसी को गले लग कर मुबारक बात भी नहीं दे सकते है और ना ही पटाखे फोड़ सकते हैं। इस बार की दीवाली बहुत ही सुनी सुनी होने वाली है। कई राज्यों ने पटाखों पर बैन लगा दिया है। इसी के साथ दिल्ली सरकार ने पटाखों को लेकर अलग ही घोषणा की है। वैसे यहां आज से 30 नवंबर तक पटाखों पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया है।


DPCC ने पब्लिक नोटिस जारी किया है जिसमें बताया गया है कि इस बार कोरोना काल के कहर को देखते हुए लोगों को दिवाली, क्रिसमस और न्यू ईयर पर पटाखे से जलाने के लिए मना किया है। लेकिन इस नोटिस में पुराने निर्देशों को रद्द कर दिया गया है। पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने आदेश दिया है कि इस बार दीपावली में सभी तरह के पटाखे बैन है। इसी के साथ गोपाल राय ने साफ-साफ कहा है कि अगर कोई बैन का उल्लंघन करता है तो एयर एक्ट के तहत अधिकतम 1 लाख रुपये के जुर्माने लगाया जाएगा।

जानकारी के लिए बता दें कि एयर इंडेक्स 435  दिल्ली में लागू है जिसका मतलब है कि यह क्षेत्र गंभीर श्रेणी में हैं। देश में कोविड-19 की तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है। ऐसे में प्रदूषण भी काफी गंभीर हो जाएगा। इसी कारण से पटाखों पर यह प्रतिबंध लगाया गया है। पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि दिवाली में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार दिल्ली में ग्रीन पटाखे जलाने की अनुमति दी गई थी, लेकिन पिछले दो तीन दिनों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं इसलिए दिल्ली के अंदर पटाखों पर पूरी तरह से बैन कर दिया गया है।