पूरी दुनिया को कोरोना वायरस देने वाले चीन पर अब भयंकर कुदरती आफत आई है जिसके तहत वहां आसमान से आग के गोले गिर रहे हैं। इस वजह से स्थानीय लोग दहशत में हैं। उत्तर-पश्चिमी चीन में आग का एक विशाल गोला आसमान से धरती पर आकर गिरा और धमाके की तेज आवाज आई। इस घटना के फोटोज और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं, जिसमें आग का गोला दिखाई दे रहा है। नासा के मुताबिक पहले भी ऐसे 50 हजार उल्का पिंड गिर चुके हैं।

हालांकि इस बात का पता नहीं चल सकता है आसमान से आग के गोले के गिरने की वजह क्‍या थी, लेकिन चीन की स्‍थानीय मीडिया ने संभावना जताई है कि कोई चमकता उल्‍का पिंड गिरा है और विशेषज्ञों भी इसे उल्का पिंड ही मान रहे हैं।

यह घटना चीन के किंघाई प्रांत के नांगकिआन की है। यह आग का गोला बुधवार को सुबह करीब 7 बजे आसमान से गिरा, जिसमें कोई नुकसान नहीं हुआ है। दान बा नाम के एक स्थानीय नागरिक का कहना है कि अपने बच्चे को स्कूल ले जाते समय इस घटना को देखा था। उन्होंने कहा कि आग का यह रहस्‍यमय गोला पहले छोटा था, लेकिन तीन मिनट बाद ही यह बहुत बड़ा और चमकदार हो गया।

शीआन से ल्हासा जाने वाले विमान में यात्रियों ने भी आग के इस गोले को धरती की तरफ गिरते हुए देखा था और वीडियो बनाए गए थे। इस रहस्यमयी घटना के कई वीडियो और तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं।

चीन के साइंस वेबसाइट गुओकर के मुख्‍य लेखक यू जून ने पेइचिंग न्‍यूज से कहा कि आग का यह एक विशाल उल्‍का पिंड की तरह से नजर आ रहा था, जो काफी चमकदार था। चीन के भूकंप नेटवर्क सेंटर ने कहा है कि उसने इस घटना को रिकॉर्ड किया है। उसने बयान जारी कर कहा कि यह संदिग्‍ध उल्‍का पिंड नांगकिआन काउंटी और यूसू काउंटी के बीच में सुबह करीब 7.25 बजे गिरा। नानशिआंग काउंटी की सरकार ने कहा कि उसे इस मामले के बारे में पता चला है, लेकिन उसे पूरी जानकारी नहीं है।

धरती पर उल्का पिंड का गिरना कोई असामान्य घटना नहीं हैं, क्योंकि यह अक्सर धरती पर गिरते रहते हैं। हालांकि इनका रिहायशी इलाकों या उनके पास गिरना असमान्य जरूर है। नासा की एक रिपोर्ट के मुताबिक दिसंबर 2019 में करीब पचास हजार उल्कापिंड धरती पर गिरे थे।