कर्नाटक पुलिस ने एक शख्स के खिलाफ अपनी महिला मित्र को ब्लैकमेल करने और उसकी एचआईवी पॉजिटिव स्टेट्स को उजागर करने की धमकी देने और उससे जबरन पैसे मांगने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की है। यह जानकारी पुलिस ने मंगलवार को दी। जानकारी के मुताबिक, 42 वर्षीय पीडि़ता ने बेंगलुरु के एचएसआर लेआउट पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी के. अरुण कुमार के खिलाफ तलाशी अभियान शुरू किया। पुलिस के मुताबिक पीडि़ता की आरोपी से मुलाकात सामाजिक संस्था में साथ काम करने के दौरान हुई।

ये भी पढ़ेंः 4 राज्यों में हुए उप चुनावों में भाजपा को मिली करारी हार, अब बिहार में बड़े बदलाव की तैयारी


वह 2020 में उससे मिली और दोनों की अच्छी दोस्ती हो गई। पीडि़ता ने जब उससे अपने एचआईवी पॉजिटिवि होने की बात साझा की, तो आरोपी ने कथित तौर पर उससे पैसों की मांग की। इसके बाद उसने महिला को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया और उसकी 2.8 लाख रुपये की सोने की चेन भी चोरी कर ली।

ये भी पढ़ेंः सेना की साइबर सुरक्षा में लगी सेंध, दुश्मन देशों को अहम जानकारी भेजे जाने का डर, शह के दायरे में कई अधिकारी


आरोपी ने महिला के एचआईबी पॉजिटिव होने की बात उसके करीबी रिश्तेदारों को बता दी, जिससे महिला को दुख पहुंचा। जब महिला ने शख्स से इस बारे में पूछताछ की तो उसने महिला के घर में घुसकर उसके साथ मारपीट की। पीडि़ता ने पुलिस को बताया कि उसने उसे बेघर करने और उसकी बेटी के साथ दुष्कर्म करने की धमकी भी दी थी। पुलिस ने आरोपी पर एचआईवी और एड्स (रोकथाम और नियंत्रण) अधिनियम, 2017, आईपीसी की धारा 355 के तहत किसी व्यक्ति का अपमान और हमला करने के लिए, 384 जबरन वसूली के लिए, 504 जानबूझकर शांति भंग करने के लिए और 506 आपराधिक धमकी के तहत मामला दर्ज किया है। आगे की जांच जारी है।