यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के चौथे चरण के तहत राज्य की 9 जिलों की 59 सीटाें पर मतदान हो रहा है। इनमें लखीमपुर खीरी भी है। इस बीच लखीमपुर खीरी की सदर सीट के कादीपुरसानी गांव में किसी शरारती शख्‍स ने ईवीएम में फेवीक्विक डाल दिया जिसेक बाद यहां बवाल मच गया। इसको लेकर सपा ने आरोप लगाया कि फेवीक्विक की वजह से उसके प्रत्‍याशी का बटन नहीं दब रहा था।

यह भी पढ़ें : शाकाहारी और मांसाहारी दोनों की खास पसंद है गुंडरूक, स्वाद ऐसा है कि चखते ही दीवाने हो जाते हैं लोग


खबर हे कि ईवीएम में फेवीक्विक डालने की वजह से करीब एक घंटे तक मतदान रुका रहा। फिर प्रशासन ने ईवीएम मशीन बदली। तब जाकर मतदान दोबारा शुरू किया जा सका। पूर्व विधायक और सपा प्रत्‍याशी उत्‍कर्ष वर्मा ने पत्रकारों से बातचीत में आरोप लगाया कि किसी ने ईवीएम में उनके नंबर के बटन पर फेवीक्विक डाल दिया।


इस वजह से बटन दब नहीं रहा था। उन्‍होंने कहा कि इस मामले की शिकायत चुनाव आयोग से गई गई तब कार्रवाई हुई और मतदान शुरू किया जा सका। इस बीच करीब एक से डेढ़ घंटे तक मतदान रुका रहा। सपा प्रत्‍याशी ने मांग कि ईवीएम में फेवीक्‍विक डालने वाले के खिलाफ सीसीटीवी के जरिए पहचान कर कार्रवाई की जाए।

यह भी पढ़ें : कंफ्यूज कर देती है सिक्किम की सेल रोटी, खाने वाले नहीं समझ पाते रोटी या मिठाई, स्वाद है लाजवाब

गौरतलब है कि आज लखीमपुर खीरी की आठ सीटों निघासन, पलिया, गोला गोरखनाथ, धौरहरा, श्रीनगर, लखीमपुर, मोहम्‍मदी और कस्‍ता में वोट डाले जा रहे हैं। 2017 के चुनाव में भाजपा ने ये सारी सीटें जीत ली थीं। इस बार तिकुनिया हिंसा की वजह से लखीमपुर खीरी और यहां से आने वाले केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री अजय मिश्रा टेनी चर्चा में हैं। हाल ही में लखीमपुर हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा हाईकोर्ट से मिली जमानत पर बाहर आए हैं।