पाकिस्तान में कोरोना वायरस की नई लहर आने की आशंका तेज हो गई है. देश के योजना मंत्री असद उमर ने कहा है कि देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वेरिएंट ‘ओमिक्रॉन’ के मामले बढ़ने के बीच यह स्पष्ट है कि महामारी की नई लहर शुरू हो रही है. उमर ने यह भी कहा कि मुल्क में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए सभी उपाय किए जा रहे हैं. वह महामारी रोधी निकाय राष्ट्रीय कमान एवं संचालन केंद्र (एनसीओसी) के प्रमुख भी हैं.

उन्होंने ट्विटर पर कहा, ‘कोविड की एक और लहर के शुरू होने के साफ सबूत हैं. जीनोम सीक्वेंसिंग से पता चल रहा है कि ओमिक्रॉन के मामले बढ़ रहे हैं, खासकर कराची में.’ उमर ने लोगों से गुजारिश की कि वे मास्क लगाएं क्योंकि यह संक्रमण से बचाव का बेहतरीन उपाय है (Pakistan Omicron Variant). पाकिस्तान महामारी की अबतक चार लहरें देख चुका है. देश में पहला मामला 26 फरवरी 2020 को सामने आया था. वहीं राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान (एनआईएच) ने बताया कि पाकिस्तान में ओमिक्रॉन वेरिएंट के 75 मामलों की पुष्टि हो चुकी है.

इससे पहले, 13 दिसंबर को कराची में ओमिक्रॉन का पहला मामला मिला था. एनआईएच के बयान के मुताबिक, ’27 दिसंबर 2021 तक ओमिक्रॉन के कुल 75 मामलों की पुष्टि हुई थी (Pakistan Omicron Update). इनमें से 33 कराची में, 17 इस्लामाबाद में और 13 लाहौर में थे.’ कराची के प्रशासन ने पूर्वी जिले में शनिवार को 15 दिन के लिए ‘माइक्रो-स्मार्ट लॉकडाउन’ लगा दिया है. इससे पहले इलाके से ओमिक्रॉन वेरिएंट के कम से कम 12 मामले मिले थे.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय ने बताया है कि पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 594 नए मरीज मिले हैं. मुल्क में लगातार चौथे दिन 500 से ज्यादा मामले सामने आए हैं. पाकिस्तान में कोरोना वायरस (Coronavirus in Pakistan) के कुल मामले 12,96,527 पर पहुंच गए हैं, जबकि 28,941 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं 12,57,024 लोग संक्रमण से ठीक हो चुके हैं. अधिकारियों ने कहा कि 2021 के अंत तक सात करोड़ लोगों का पूर्ण टीकाकरण का लक्ष्य हासिल कर लिया गया है, जो टीकाकरण (Vaccination Drive) के लिए पात्र आबादी का 46 फीसदी है.