कोरोना वायरस की तीसरी लहर के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बैठक बुलाई है।  खबर है कि बैठक में पीएम मोदी तीसरी लहर को लेकर की जा रही तैयारियों का ब्यौरा ले सकते हैं।  मीटिंग में स्वास्थ्य मंत्रालय, कैबिनेट सचिव और नीति आयोग शामिल हो सकते हैं।  हाल ही में एक रिपोर्ट सामने आई थी, जिसमें कोविड-19 की तीसरी लहर की सितंबर-अक्टूबर तक आने की आशंका जताई गई थी। 

मंगलवार दोपहर 3:30 होने वाली इस अहम बैठक में कोरोना वायरस महामारी की मौजूदा स्थिति पर चर्चा और तैयारियों की समीक्षा की जा सकती है।  बीती जुलाई में ही पीएम मोदी के कैबिनेट में बड़ा बदलाव हुआ था।  उस दौरान स्वास्थ्य समेत कई बड़े मंत्रालयों की जिम्मेदारियां बदली गई थी।  इस लिहाज से भी यह बैठक अहम मानी जा रही है।  जानकार पहले ही इस बात को लेकर चिंता जता चुके हैं कि तीसरी लहर बच्चों को सबसे ज्यादा प्रभावित कर सकती है। 

गृह मंत्रालय की तरफ से एक एक्सपर्ट पैनल गठित की गई थी, जिसने सितंबर और अक्टूबर के बीच में तीसरी लहर की दस्तक का अुनमान लगाया था।  नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाज्स्टर मैनेजमेंट की तैयार की हुई एक्सपर्ट्स कमेटी ने यह भी कहा कि वयस्कों की तरह बच्चे भी समान जोखिम में होंगे।  क्योंकि अगर बड़ी संख्या में बच्चे संक्रमित हो जाते हैं, तो डॉक्टर, वेंटिलेटर्स, एम्बुलेंस आदि जैसी सुविधाएं पर्याप्त नहीं हैं।