किसानों के धरना स्थलों पर दोबारा लामबंद होने के मद्देनजर केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने आज एक बार फिर से आपात प्रावधानों को इस्तेमाल करते हुए राजधानी की सीमाओं से लगते सिंघु बार्डर, गाजीपुर और टीकरी बार्डर क्षेत्रों में इंटरनेट सेवा अस्थायी तौर पर दो दिन के लिए बंद कर दी है। 

मंत्रालय ने इन तीनों स्थानों पर किसानों के बड़ी संख्या में एकत्र होने के बाद भारतीय टेलीग्राफ अधिनियम 1885 के तहत मिले अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए शनिवार सुबह 11 बजे से 31 जनवरी सुबह 11 बजे तक इंटरनेट सेवा अस्थायी तौर पर बंद करने का निर्णय लिया है। सरकार ने इससे पहले गत 26 जनवरी को भी इन क्षेत्रों तथा इनसे लगते राष्ट्रीय राजधानी के क्षेत्रों में इंटरनेट सेवा अस्थायी तौर पर बंद कर दी थी। 

गृह मंत्रालय के ताजा आदेश में कहा गया है कि सुरक्षा व्यवस्था की स्थिति बनाये रखने और किसी तरह की आपात स्थिति पैदा न हो इसे ध्यान में रखते हुए सिंघु, गाजीपुर और टीकरी तथा उसके आस पास के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के हिस्सों में इंटरनेट सेवा अस्थायी तौर पर बंद की जा रही है। उल्लेखनीय है कि गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा तथा उत्पात के बाद से गृह मंत्रालय ने पुलिस को स्थिति से निपटने के लिए सख्ती बरतने को कहा है। इसके अलावा उत्पात में शामिल लोगों तथा कुछ किसान नेताओं के विरूद्ध प्राथमिकी भी दर्ज करायी गयी है।