TRP घोटाला बहुत ही बढ़ा घोटाला है जिसमें कई टीवी चैनलों का काला सच सामने आया है। इसी घोटाले का खुलासा होने के बाद से मुंबई पुलिस ने जांच शुरू की औह हाल ही में रिपब्लिक टीवी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) विकास खानचंदानी को नकली टीआरपी घोटाले में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने कहा कि क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने खानचंदानी को उसके निवास से गिरफ्तार किया है। यह लोगों को पैसे देकर अपने टीवी की टीआरपी  बढ़वाता था।  


टीआरपी घोटाले में रिपब्लिक टीवी ही नहीं कई मराठी चैनल भी शामिल है जो लोगों को पैसे दे कर अपने चैनल की टीआरपी बढ़ाते थे। इसी कड़ी में सबूतों के साथ मुबंई पुलिस ने रिपब्लिक टीवी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) विकास खानचंदानी को नकली टीआरपी के मामले गिरफ्तार किया और इन्हें छुट्टी अदालत में पेश किया जाएगा। पुलिस ने बताया है कि खानचंदानी मामले में अब तक गिरफ्तार होने वाले 13 वें व्यक्ति हैं। सुप्रीम कोर्ट द्वारा रिपब्लिक टीवी के संस्थापक अरनब गोस्वामी से ठुकराए जाने के एक हफ्ते से भी कम समय के लिए शीर्ष कार्यकारी की गिरफ्तारी होती है।


इसके अलावा, वितरण के चैनल के प्रमुख, घनश्याम सिंह, का नाम 1,400 पन्नों की चार्जशीट में शामिल था और दो अभियुक्त थे संकेत दिया कि वे मामले में अनुमोदनकर्ता बन जाएंगे। अदालत मामले पर फैसला लेगी। अक्टूबर में हंसा रिसर्च के एक अधिकारी नितिन देवकर द्वारा रेटिंग मीटर लगाने वाली एक एजेंसी के सामने यह मामला दायर किया गया था, जिसमें शिकायत दर्ज की गई थी कि प्रक्रिया में हेरफेर किया जा रहा है।