सिक्किम भारत का एक पर्वतीय राज्य है। यह राज्य पश्चिम में नेपाल, उत्तर तथा पूर्व में चीनी तिब्बत क्षेत्र तथा दक्षिण-पूर्व में भूटान से लगा हुआ है। सिक्किम पहाड़ियों और पेड़ से हरा-भरा सुन्दर है जो भारत का दूसरा सबसे छोटा राज्य है। बता दें कि पहले स्थान पर गोवा का नाम है। यहां अलग-अलग सभ्यता और संस्कृति के लोग रहते हैं। लिम्बू, लेपचा, और भूटिया यहां के मूल निवासी हैं। नेपाली और और तिब्बती भी यहां बस गये हैं।तो आइए जानते हैं इस राज्य के बारे कुछ खासे बातें...


भारत में सिक्किम राज्य की स्थापना 16 मई  1975 में हुई थी। इस राज्य की राजधानी गंगटोक है। राजय में चार जिले हैं आैर सडकों की लंबाई करीब 2383 किमी है। कंचनजंगा जो कि दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची चोटी है, यह सिक्किम के उत्तरी पश्चिमी भाग में नेपाल की सीमा पर है और इस पर्वत चोटी को प्रदेश के कई भागों से आसानी से देखा जा सकता है। सिक्किम में मुख्यतः मक्का, चावल, गेहूं, बडी इलाइची और अदरक की खेती ज्यादा होती है। सिक्किम एक कृषि राज्य है और यहां सीढ़ीदार खेतों में पारम्परिक पद्धति से कृषि की जाती है।


यहां का राजकीय फूल नोबइल ऑर्चिड है, राजकीय पेड़ रोडोडेन्ड्रांड है, राजकीय पशु लाल पंडा है। इस राज्य के बड़े शहर पीलिंग, गंगटोक, युकसम, मंगन, जोरेथंग, गेजिग हैं। नेपाली सिक्किम का प्रमुख भाषा है। सिक्किम की जनसंख्या भारत के राज्यों में न्यूनतम है और क्षेत्रफल गोवा के बाद न्यूनतम है। साफ सुथरा होना, प्राकृतिक सुंदरता एवं राजनीतिक स्थिरता आदि विशेषताओं के कारण सिक्किम भारत में पर्यटन का प्रमुख केन्द्र बना हुआ है।


सिक्किम हिमालय के निचले हिस्से में गर्मस्थान में भारत के तीन क्षेत्रों में से एक बसा हुआ है। यहां के जंगलों में विभिन्न प्रकार के जीव जंतु एवं वनस्पतियां पाई जाती हैं। सिक्किम के नागरिक भारत के सभी प्रमुख हिन्दू त्योहार दीपावली और दशहरा मनाते हैं। बौद्ध धर्म के ल्होसार, लूसोंग, सागा दावा, ल्हाबाब ड्युचेन, ड्रुपका टेशी और भूमचू वे त्योहार हैं जो मनाये जाते हैं.हिमालय में गंगटोक समुद्रतल से 1650 मीटर की ऊंचाई पर बसा होने का कारण यहाँ का मौसम हमेशा सुहावना बना रहता है।