नई दिल्ली। कम उपयोग की वजह से फेसबुक अपनी कई सेवाओं को बंद करने जा रही है। ये वो सर्विसेज हैं जो आपके रियल टाइम लोकेशन को ट्रैक करती हैं। इनमें आस-पास के फ्रेंड, लोकेशन हिस्ट्री और बैकग्राउंड लोकेशन आदि शामिल हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, उन लोगों को भेजी गई एक अधिसूचना में, जिन्होंने पहले इस सुविधा का उपयोग किया है। फेसबुक ने कहा है कि वह 31 मई को इन सुविधाओं से जुड़े डेटा को एकत्र करना बंद कर देगी और 1 अगस्त को किसी भी स्टोर्ड डेटा को साफ कर देगी।

यह भी पढ़ें : भारतीय मुक्केबाजों के लिए मिला-जुला ड्रॉ, पहले दिन लवलीना ने की अभियान की शुरूआत

मेटा कंपनी के प्रवक्ता एमिल वाजक्वेज ने एक ईमेल के जरिए दिए गए बयान में कहा, "हालांकि हम कम उपयोग के कारण फेसबुक पर कुछ लोकेशन-आधारित फीचर्स को हटा रहे हैं, फिर भी लोग लोकेशन सर्विसेस का उपयोग यह प्रबंधित करने के लिए कर सकते हैं कि उनके स्थान की जानकारी कैसे एकत्र और उपयोग की जाती है।"

एक रिपोर्ट के मुताबिक, इसका मतलब यह नहीं है कि टेक दिग्गज पूरी तरह से लोकेशन डेटा इकट्ठा करना बंद कर देगी। जैसा कि यूजर्स के लिए अपने नोट में कहा गया है, फेसबुक ने कहा कि वह अपनी डेटा नीति के अनुरूप प्रासंगिक विज्ञापनों और स्थान चेक-इन की सेवा के लिए 'अन्य अनुभवों के लिए स्थान की जानकारी एकत्र करना जारी रखेगा।'

यह भी पढ़ें : HNLC peace talks : मेघालय के डिप्टी सीएम ने कहा - सरकार वार्ताकार से इनपुट की प्रतीक्षा कर रही है

यूजर्स सेटिंग और प्राइवेसी मेनू के अंदर सेव किए गए किसी भी स्थान डेटा को देख, डाउनलोड या हटा सकते हैं। अन्यथा, फेसबुक 1 अगस्त को अपनी बंद सेवाओं से संबंधित किसी भी आरकाइव्ड डेटा को ऑटोमैटिक रूप से हटा देगा।