इस साल जुलाई में मेटा (meta) के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने खुलासा किया था कि कंपनी की 2022 के अंत तक क्रिएटर्स को $1 बिलियन (लगभग 74,31,08,50,000 करोड़ रुपये) का भुगतान करने की योजना है। अब द इंफॉर्मेशन में प्रकाशित एक नई रिपोर्ट की बदौलत अब हमारे पास कुछ डिटेल्स हैं कि कैसे कंपनी इस पैसे को खर्च करने की योजना बना रही है।

मेटा के स्वामित्व वाला फेसबुक (facebook) प्लेटफॉर्म के लाइव ऑडियो रूम फीचर का उपयोग करने के लिए क्रिएटर्स को $50,000 (लगभग 37 लाख रुपये) तक का भुगतान करेगा। ऑडियो रूम लाइव ऑडियो ऐप क्लबहाउस को चुनौती देने के लिए मेटा द्वारा तैयार की गई है, जिसने अपने लॉन्च के बाद दुनियाभर में काफी लोकप्रियता हासिल की।

इसके अतिरिक्त, मेटा का फोटो-शेयरिंग ऐप इंस्टाग्राम (instagram) भी प्लेटफॉर्म पर रील पोस्ट करने के लिए क्रिएटर्स को $35,000 (लगभग 26 लाख रुपये) तक का भुगतान करता है। रिपोर्ट के अनुसार, "फेसबुक अब संगीतकारों और अन्य क्रिएटर्स को अपने पांच महीने पुराने लाइव ऑडियो प्रोडक्ट पर प्रति सत्र $10,000 से $50,000 का भुगतान करने की पेशकश कर रहा है, साथ ही $10,000 या उससे अधिक के मेहमानों के लिए शुल्क भी।"

पैसे के बदले में, फेसबुक कथित तौर पर चाहता है कि प्लेटफॉर्म पर क्रिएटर कम से कम 30 मिनट की अवधि में चार से छह सत्रों की मेजबानी करें। बता दें कि, फेसबुक ने जून में अपनी ऑडियो सर्विस; लाइव ऑडियो रूम्स के साथ पॉडकास्ट की शुरुआत की थी। कंपनी ने कहा था कि "अमेरिका में श्रोताओं के लिए चुनिंदा पॉडकास्ट उपलब्ध होंगे।" लाइव ऑडियो रूम होस्ट करने वाले एडमिन को अपनी बातचीत के दौरान सपोर्ट के लिए एक नॉन-प्रॉफिट या फंडरेज़र का चयन करने का ऑप्शन मिलेगा, और फेसबुक का कहना है कि "लिसनर्स और स्पीकर्स सीधे डोनेट कर सकते हैं।"

फेसबुक लाइव ऑडियो सेशन में होस्ट को 50 स्पीकर तक जोड़ने की अनुमति देता है। लिसनर्स की संख्या की कोई सीमा नहीं है, इसलिए कोई भी फेसबुक पर किसी भी लाइव ऑडियो रूम में शामिल हो सकता है।