Instagram को लेकर फेसबुक ने बड़ा खुलासा किया है। कंपनी ने इसें कम उम्र वालों के लिए बेहद खतरनाक बताया है। यह बच्चों को मानसिक तौर पर बीमार कर रहा है जिसकी वजह से वो डिप्रेशन के शिकार हो रहे हैं।

एक रिपोर्ट के अनुसार फेसबुक के स्टडी में यह पाया गया है कि इंस्टाग्राम ऐप किशोरों के लिए बेहद हानिकारक है। पिछले तीन वर्षों में फेसबुक के अध्ययनों का हवाला देते हुए जर्नल ने लिखा है कि इंस्टाग्राम अपने यंग यूजर्स बेस को किस तरह से प्रभावित कर रहा है। इसमें सबसे अधिक प्रभावित कम उम्र की लड़कियां हो रही हैं। फेसबुक की रिपोर्ट के अनुसार, इंस्टाग्राम कम उम्र के बच्चों को इस तरह प्रभावित कर रहा है कि उन्हें आत्महत्या तक के ख्याल आने लगते हैं। करीब 13% ब्रिटिश यूजर्स और 6% अमेरिकी यूजर्स ने इंस्टाग्राम पर इसको सर्च भी किया है।

इस रिपोर्ट के अनुसार 32 फीसदी किशोर लड़कियों का कहना है कि इंस्टाग्राम उन्हें बाॅडी को लेकर काफी बुरा महसूस कराता है। यह भी पाया कि अमेरिका में 14% लड़कों ने कहा कि इंस्टाग्राम ने उन्हें अपने बारे में बुरा महसूस कराया है। सोशल मीडिया कंपनी ने जिन विशेषताओं को सबसे हानिकारक के रूप में पहचाना है उसमें सबसे प्रमुख मेकअप है। यानी कम उम्र के बच्चे इंस्टाग्राम पर सुंदर दिखना चाहते है और अगर ऐसा नहीं होता तो वे डिप्रेस्ड हो जाते है। इंस्टाग्राम हर 3 में से 1 लड़की में बॉडी इमेज की समस्या को बदतर बनाता है।

शोधकर्ताओं ने इंस्टाग्राम के एक्सप्लोर पेज को चेतावनी दी है जो यूजर्स को कई तरह के अकाउंट से क्यूरेट पोस्ट करता है। यूजर्स को ऐसी चीजों को लेकर आकर्षित कर रहा है जो उनके लिए हानिकारक हो सकती है। इंस्टाग्राम ऐप में केवल बेहतरीन तस्वीरें और तुरंत पोस्ट करने की फीचर्स भी है जो कम उम्र वालों के लिए एक नशे की लत की तरह है।