शिवसागर । पिछले वर्ष 25 अगस्त को शिवसागर जिला परिषद के सदस्यों द्वारा अपनी  अध्यक्ष शांतना बूढ़ागोहाई के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाकर उन्हें अध्यक्ष के पद से हटा दिया गया परंतु अपने पद से हटने के बाद भी सभापति शांतना बूढ़ागोहाई  को दी गई सरकारी गाड़ी का त्याग न करने और अभी भी जिला परिषद कार्यालय में आकर अध्यक्ष की कुर्शी पर बैठने को लेकर जिला परिषद के सदस्यों और कर्मचारियों में कड़ी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है

उल्लेखनीय है कि सभापति पर कई सदस्यों ने आरोप लगाए थे कि वे अपनी मनमर्जी से  परिषद में कार्य करती है और सरकार द्वारा परिषद को 24 परिषदों हेतु आवंटित विभिन्न योजनाओं की पूंजी भी वह सभी परिषदों को देने की जगह अपनी  मनमर्जी से पूंजी आवंटित करती है इसके अलावा वह परिषद के कार्यो हेतु भी बिना सदस्यों से विचार विमर्श कीये अपनी मनमर्जी से निर्णय करती।

इसी  को लेकर कुछ सदस्यों ने सभापति महोदया के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया था जो पारित हो गया परंतु पद जाने के बाद भी वे पद का मोह नहीं त्याग पा रही है और अभी भी अध्यक्ष की कुर्मी पर बैठकर  परिषद के कार्य कर रही है दूसरी तरफ शिवसागर जिला परिषद की सभी 24 सीटों पर जीतने वाली कांग्रेस पार्टी द्वारा आगामी 8 अगस्त को कांग्रेस के जिला मुख्यालय राजीव भवन में एक सभा का आयोजन किया गया है इस सभा में शिवसागर जिला परिषद की नई अध्यक्ष का चयन किया जाएगा। इस सभा में शिवसागर और और चराईदेव  जिले के वर्तमान और  पूर्व कांग्रेसी विधायकों सहित वरिष्ट कांग्रेसी नेता भाग लेंगी।