ब्रसेल्स। यूरोपीय संघ के गृह मामलों के आयुक्त यल्वा जोहानसन ने यूरोपीय परिवहन कंपनियों और संस्थाओं से यूक्रेन को अपना माल यूरोपीय संघ को निर्यात करने में मदद करने का आग्रह किया। जोहानसन ने यूरोपीय संसद के सत्र के दौरान यूक्रेन में यूरोपीय संघ के परिवहन और पर्यटन क्षेत्रों पर रूसी सैन्य अभियान के प्रभाव पर मंगलवार को कहा, 'हम सड़क परिवहन क्षेत्र से रेल और जलमार्ग क्षेत्रों के साथ-साथ यूक्रेन को फिर से मदद करने के लिए कहते हैं। यूक्रेन के अधिकांश समुद्री बंदरगाहों की सीमा से बाहर होने के कारण, हमें यूक्रेन के लिए यूरोपीय संघ में अपना माल निर्यात करने के अन्य तरीके खोजने की जरूरत है।' 

ये भी पढ़ेंः पायलट प्रोजेक्ट के रूप में अरुणाचल प्रदेश भारत-चीन सीमा पर तीन मॉडल गांव विकसित करेगा

लिथुआनियाई राष्ट्रपति गीतानास नौसेदा ने गत 14 अप्रैल को कहा कि उनका देश यूक्रेन को क्लेपेडा में बंदरगाह के माध्यम से अनाज निर्यात करने में मदद कर सकता है। अप्रैल की शुरुआत में यूक्रेनी कृषि विश्लेषणात्मक एजेंसी एपीके-इनफॉर्म ने बताया कि रूसी सैन्य अभियान के कारण फसलों की कटाई और निर्यात में समस्याओं के कारण यूक्रेन इस साल पहले से बोई गई फसल का लगभग 40 प्रतिशत खो सकता है।

ये भी पढ़ेंः अरुणाचल में स्थित है भगवान परशुराम का कुंड, रिजिजू ने शेयर किया अद्भुत वीडियो

यूक्रेनी अर्थव्यवस्था मंत्रालय ने गत चार अप्रैल को कहा कि मार्च में देश का अनाज निर्यात फरवरी के स्तर से चार गुना कम था। गौरतलब है कि रूस और यूक्रेन दुनिया के शीर्ष गेहूं उत्पादक हैं। संयुक्त राष्ट्र डब्ल्यूएफपी के अनुसार, दोनों देशों का संयुक्त रूप से वैश्विक गेहूं निर्यात का 30 प्रतिशत और मक्का निर्यात का 20 प्रतिशत हिस्सा है।