ब्रसेल्स। यूरोपीय आयोग (The European Commission) ने एक बयान में कहा है कि उसने यूरोपीय संघ (EU) के लिए एक विशेष योजना विकसित करने का प्रस्ताव पेश किया है, जो इस साल में रूसी गैस की मांग को दो तिहाई तक कम कर सकती है। 

बयान में कहा गया, 'यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद यूरोपीय आयोग ने आज 2030 से पहले रूस के जीवाश्म ईंधन से यूरोप को स्वतंत्र बनाने की योजना की रूपरेखा का प्रस्ताव पेश किया है।'

यह भी पढ़ें- कोविंद ने 28 महिला हस्तियों को दिया नारी शक्ति पुरस्कार, सभी ने अपने क्षेत्र में दिया है उल्लेखनीय योगदान

आयोग ने कहा कि ईयू गैस आपूर्ति में विविधता लाने, नवीकरणीय गैसों के उत्पादन में तेजी लाने और गैस को बिजली और हीटिंग से विस्थापित करने की कोशिश करेगा। यह वर्ष के अंत से पहले रूसी गैस की यूरोपीय संघ की मांग को दो तिहाई कम कर सकता है।'

आयोग ने कहा कि उसके द्वारा पेश किए गए पिछले प्रस्ताव वार्षिक जीवाश्म गैस की खपत को 30 प्रतिशत तक कम कर सकते हैं जो 100 अरब क्यूबिक मीटर के बराबर है। 

यह भी पढ़ें- पति के लक्ष्य को ही नीलम्मा ने बनाई अपनी मंजिल, 17 वर्षों से कब्रिस्तान में दफना रही है शव

बयान में कहा गया, 'रीपावर-ईयू योजना में उपायों के तहत हम धीरे-धीरे कम से कम 155 अरब जीवाश्म गैस के उपयोग को हटा सकते हैं, जो कि 2021 में रूस से आयात की गई मात्रा के बराबर है। उस कमी का लगभग दो तिहाई एक वर्ष के भीतर प्राप्त किया जा सकता है, जो ईयू की एक आपूर्तिकर्ता पर अत्यधिक निर्भरता को समाप्त कर देगा।'