प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि लोकतंत्र की मूल ताकत "हमारे नागरिकों और समाजों के भीतर निहित भावना और लोकाचार" है। प्रधान मंत्री ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम 'समिट फॉर डेमोक्रेसी (Summit for Democracy)' में बोलते हुए यह टिप्पणी की।
प्रधानमंत्री (PM Narendra Modi) ने कहा कि "बहुदलीय चुनाव, स्वतंत्र न्यायपालिका और स्वतंत्र मीडिया जैसी संरचनात्मक विशेषताएं लोकतंत्र के महत्वपूर्ण उपकरण हैं। हालांकि, लोकतंत्र की मूल ताकत वह भावना और लोकाचार है जो हमारे नागरिकों और हमारे समाजों में निहित है ”।
मोदी ने यह भी कहा कि "दुनिया के विभिन्न हिस्सों ने लोकतांत्रिक (Democracy) विकास के विभिन्न रास्तों का अनुसरण किया है और हम एक-दूसरे से बहुत कुछ सीख सकते हैं हम सभी को अपनी लोकतांत्रिक प्रथाओं और प्रणालियों में लगातार सुधार करने की जरूरत है। और, हम सभी को समावेश, पारदर्शिता, मानवीय गरिमा, उत्तरदायी शिकायत निवारण और सत्ता के विकेंद्रीकरण को लगातार बढ़ाने की जरूरत है।"