कोरोना वायरस का डर इस समय प्रत्येक व्यक्ति में छाया हुआ है, लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं जिनमें इसका भय कुछ हद से ही ज्यादा है। इसी के चलते  आंध्र प्रदेश में चार लोगों के पूरे परिवार द्वारा आत्महत्या करने का हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। आत्महत्या के साथ-साथ उसकी वजह और ज्यादा चौंकाती है। शुरुआती जांच के मुताबिक, एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें लिखा है कि उनको कोरोना वायरस होने का डर था इसलिए उन्होंने जान दे दी।

कर्नूल शहर के वड्डगेरी में यह घटना हुई है। परिवार के चारों सदस्यों ने जहर खाकर जान दी है। परिवार के सदस्यों की पहचान प्रताप (उम्र 42 साल), हेमलता (36), जयंत (17), रिशिता (14) के रूप में हुई है। पति पत्नी के साथ दोनों बच्चों के शव भी घर से बरामद हुए हैं। प्रताप एक टीवी मेकेनिक था। वहीं बेटा जयंत कोई कोर्स कर रहा था। बेटी रिशिता सिर्फ सातवीं क्लास में थी।

बुधवार को पड़ोसियों को कुछ शक हुआ। क्योंकि काफी घंटों से परिवार का कोई सदस्य बाहर नहीं दिखा था। ऐसे में पड़ोसियों ने गेट खटखटाया। कोई जवाब ना मिलने पर पुलिस को बुलाया गया। पुलिस ने दरवाजा खोला तो अंदर चारों के मृत शरीर जमीन पर पड़े थे। घर से सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। इसमें लिखा है कि उनके दोस्तों और रिश्तेदारों की कोरोना से मौत हुई थी। ऐसे में उनको डर था कि उनको भी संक्रमण ना हो जाए। फिलहाल पुलिस ने केस रजिस्टर करके शवों को आगे पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

आंध्र प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल 18,54457 मामले सामने आए हैं। फिलहाल वहां कोरोना के 53,880 मामले एक्टिव हैं। कुल मामलों में से 12,416 लोगों ने कोरोना वायरस से जान गंवाई है। वहीं 17,88,161 लोगों ने कोरोना को हराया है।