वैज्ञानिकों ने बड़ी चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि दुनिया में एलन मस्क, जेफ बेजोस और चीन प्रदूषण के जिम्मेदार होंगे। वैज्ञानिकों के अनुसार पहला दिन में सूरज की रोशनी कम (sun light low) हो सकती है, दूसरा रात में अंधेरा ज्यादा (darkness) हो सकता हैं। इस प्रदूषण को फैलाने में सबसे बड़ा हाथ दुनिया के रईसों में से एक एलन मस्क, जेफ बेजोस, रिचर्ड ब्रैनसन और चीन का होगा।


यह भी पढ़ें—  मोदी सरकार बेटियों को दे रही 2000 रूपये महीना! जानिए ये मैसेज फर्जी या सही


ये प्रदूषण धरती के चारों तरफ बढ़ते हुए सैटेलाइट्स का माना जा रहा है। इसको लेकर यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के भौतिक विज्ञानी टोनी टाइसन ने चेतावनी जारी की है। टोनी ने एलन मस्क के साथ कॉन्फ्रेंस कॉल पर बात की थी। उन्हें बढ़ते हुए सैटेलाइट प्रदूषण की अहमियत बताई थी। इसके साथ ही महीने बाद एलन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स (SpaceX) ने पहली बार 60 स्टारलिंक सैटेलाइट्स का बड़ा हुजूम अंतरिक्ष में लॉन्च किया।

एलन मस्क (Elon Musk) के स्टारलिंक सैटेलाइट्स का मकसद दुनियाभर में इंटरनेट का नेटवर्क बिछाना है। यह सर्विस अंतरिक्ष से सीधे ही मिलेगी। स्पेसएक्स के पास अब तक 12 हजार से ज्यादा स्टारलिंक सैटेलाइट्स लॉन्च करने की अनुमति मिली हुई है। एलन मस्क कुल 41,914 स्टारलिंक सैटेलाइट्स अंतरिक्ष में लॉन्च करना चाहते हैं। इसके अलावा जेफ बेजोस (Jeff Bezos) द्वारा फंडेड प्रोजेक्ट कुइपर (Project Kuiper) के तहत 3236 सैटेलाइट्स अंतरिक्ष में लॉन्च करना चाहते हैं। दोनों का मकसद दुनिया को इंटरनेट सर्विस प्रोवाइड करना है।