चुनाव आयोग ने शनिवार को कूच बिहार जिले के अंतर्गत सीतलाकुची विधानसभा क्षेत्र के एक बूथ पर मतदान स्थगित कर दिया, जहां केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) के कर्मियों की गोलीबारी में चार लोग मारे गए। घटना के बाद, चुनाव आयोग ने सीतलाकुची विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र 126 पर चुनाव स्थगित करने का आदेश जारी किया। विशेष पर्यवेक्षकों द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट के आधार पर पोल पैनल ने यह कदम उठाया है।

पश्चिम बंगाल में मुख्य चुनाव अधिकारी द्वारा शनिवार शाम 5 बजे घटना की विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई है। चुनाव आयोग ने बताया, आयोग ने विशेष प्रयवेक्षकों की अंतरिम रिपोर्ट के आधार पर सीतलाकुची एसी, कूच बिहार के पीएस 126 में मतदान स्थगित करने के आदेश दिए। विस्तृत रिपोर्ट आज शाम 5 बजे तक मांगी गई है। प्रारंभिक रिपोर्ट के अनुसार, राज्य में चल रहे चौथे चरण के चुनाव के दौरान सीतलाकुची विधानसभा क्षेत्र में स्थानीय लोगों के हमले के बाद सीएपीएफ के जवानों की गोलीबारी में चार लोगों की मौत हो गई।

सूत्रों के अनुसार, यह घटना सीतलाकुची में मतदान केंद्र पर सुबह लगभग 10 बजे हुई, जब एक त्वरित प्रतिक्रिया दल (क्यूआरटी) पर अज्ञात व्यक्तियों द्वारा कथित रूप से हमला किया गया। सूत्र ने कहा कि इस दौरान पांच राउंड गोलियां चलाई गईं। घटनास्थल पर कथित रूप से भीड़ मतदाताओं को मतदान केंद्र तक पहुंचने से रोक रही थी, जिसके बाद स्थानीय पुलिस और क्यूआरटी की स्थानीय लोगों से झड़प हुई।इस बीच, सूत्र ने कहा, एक मतदाता नीचे गिर गया और अज्ञात बदमाशों ने क्यूआरटी के वाहन को नुकसान पहुंचाना शुरू कर दिया, और इसके बाद सीएपीएफ कर्मियों ने गोलियों चलाईं।

इस घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, हम कह रहे थे कि गृह मंत्रालय केंद्रीय बलों को प्रभावित कर रहा है और हमारा डर सच हो गया। उन्होंने चार लोगों को मार डाला है। टीएमसी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर घटना का आरोप लगाया। पार्टी ने एक बयान में कहा, सुबह से ही भाजपा के उपद्रवियों ने लोगों के वोट देने के अधिकार को अवरुद्ध कर दिया था, जबकि सीआरपीएफ मतदाताओं को भाजपा के पक्ष में मतदान करने के लिए प्रभावित कर रही थी। जब टीएमसी कार्यकर्ता पूछताछ करने गए कि लोगों को वोट देने की अनुमति क्यों नहीं दी जा रही है, तो भाजपा के उपद्रवियों ने अराजकता का माहौल पैदा किया। सीआरपीएफ ने जिसके बाद गोली चला दी और तृणमूल के पांच कार्यकर्ताओं को अपनी जान गंवानी पड़ी। इस बीच, सीतलाकुची के भाजपा उम्मीदवार बैरन चंद्र बर्मन ने कहा कि एक मृत व्यक्ति बूथ पर पार्टी का पोलिंग एजेंट था और हत्या के पीछे टीएमसी कार्यकर्ता हैं।