पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, पुडुचेरी और केरल में हुए विधानसभा चुनाव के लिए रविवार को वोटों की गिनती की जाएगी। पांच राज्यों में होने वाले मतगणना को लेकर चुनाव आयोग ने शनिवार को दिशा निर्देश जारी कर दिया है। 

चुनाव आयोग ने शनिवार को कहा कि काउंटिंग हाल के अंदर उन्हीं उम्मीदवारों और एजेंटों को एंट्री मिलेगी जिनका आरटी-पीसीआर टेस्ट हुआ होगा। इसके अलावा कोरोना वायरस वैक्सीन की दोनों डोज लेने वाले उम्मीदवारों और एजेंटों को भी मतगणना हाल में प्रवेश मिलेगा। 

चुनाव आयोग ने कहा है कि 2016 के चुनावों में 1002 काउंटिंग हालों की तुलना में इस बार 2364 हाल बनाए गए हैं। इस तरह से देखे तो काउंटिंग हाल में 200 फीसदी से अधिक की वृद्धि की गई है। ऐसा कोरोना वायरस से सुरक्षा उपायों को देखते हुए किया गया है।

चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में वाले मतगणना के लिए 822 रिव्यू ऑफिसर और 7000 से अधिक सहायक रिव्यू ऑफिसर नियुक्त किया है। 2 मई को होने वाली काउंटिंग में लगभग 95000 मतगणना अधिकारी गिनती का कार्य करेंगे।

बता दें कि पांच राज्य जिसमें पश्चिम बंगाल की 294, तमिलनाडु की 234, असम की 126 केरल की 140 पुडुचेरी की 30 विधानसभा सीटों के लिए मतदान हुए हैं। पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा आठ चरणों में चुनाव कराया गया। जहां आखिरी चरण के लिए 29 अप्रैल को वोट डाले गए। अब इन राज्यों में रविवार को वोटों की गिनती होनी है। वोटों की गिनती सुबह 8 बजे से शुरू हो जाएगी।