शेयर बाजार (Share Market) में पिछले हफ्ते से भूचाल आया हुआ है। इसके चलते निफ्टी 17 हजार से नीचे फिसल गया। वहीं, सेसेंक्स में 3.01 फीसदी की बड़ी गिरावट दर्ज की गई। मार्केट में लगातार गिरावट से तमाम कंपनियों के मार्केट कैप घटे हैं।

शेयर बाजार में लिस्टेड की देश की टॉप-10 कंपनियों में से आठ को पिछले हफ्ते बाजार मूल्यांकन में संयुक्त रूप से 2,61,812.14 करोड़ रुपये का घाटा हुआ। रिलायंस इंडस्ट्रीज के Market Cap में सबसे अधिक कमी हुई। जबकि टॉप-10 कंपनियों की इस सूची में सिर्फ इंफोसिस और विप्रो लाभ में रहे।रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) का मूल्यांकन 79,658.02 करोड़ रुपये घटकर 15,83,118.61 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। HDFC का मूल्यांकन 34,690.09 करोड़ रुपये घटकर 4,73,922.86 करोड़ रुपये रहा।बजाज फाइनेंस का बाजार पूंजीकरण (M-Cap) 33,152.42 करोड़ रुपये घटकर 4,16,594.78 करोड़ रुपये और HDFC बैंक का एम-कैप 27,298.3 करोड़ रुपये घटकर 8,16,229.89 करोड़ रुपये रह गया।हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड (HUL) का मूल्यांकन 24,083.31 करोड़ रुपये घटकर 5,24,052.84 करोड़ रुपये और भारतीय स्टेट बैंक (SBI) का मूल्यांकन 24,051.83 करोड़ रुपये घटकर 4,17,448.70 करोड़ रुपये रह गया।ICICI बैंक का मूल्यांकन 20,623.35 करोड़ रुपये घटकर 5,05,547.14 करोड़ रुपये और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) का मूल्यांकन 18,254.82 करोड़ रुपये घटकर 13,26,923.71 करोड़ रुपये रह गया।इसके विपरीत, इंफोसिस का मूल्यांकन 26,515.92 करोड़ रुपये बढ़कर 7,66,123.04 करोड़ रुपये और विप्रो का मूल्यांकन 17,450.39 करोड़ रुपये बढ़कर 3,67,126.39 करोड़ रुपये हो गया।इन शीर्ष 10 कंपनियों की रैंकिंग में, आरआईएल सबसे आगे थी। उसके बाद टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, एचडीएफसी बैंक, इंफोसिस, एचयूएल, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी, भारतीय स्टेट बैंक, बजाज फाइनेंस और फिर विप्रो थी।