सिक्किम में विधानसभा सत्र के पहले दिन आठ विधेयक पारित किए गए। शनिवार को विधानसभा सत्र के दौरान राज्य के जनजाति समुदाय लेप्चा-भूटिया के 21 फीसदी जनसंख्या के आधार पर पंचायत में 20 फीसदी आरक्षण मिलने की घोषणा की गर्इ। जिसके बाद से राज्य के इस जनजाति में उत्साह का माहौल है। 2011 के सर्वेक्षण के मुताबिक लेप्चा जनजाति की लिम्बु के 53 हजार आैर तमाग के 37 हजार जनसंख्या है।

बौद्ध भिक्षुओं के लिए भी पारित हो सकता है एेसा की विधेयक

इसी जनसंख्या के आधार पर केंद्र सरकार के सामने इस समुदायों को विधानसभा में सीट आरक्षण देने का सुझाव रखा गया था। अब एेसे ही बौद्ध भिक्षुओं के लिए भविष्य में पंचायत में सीट आरक्षण संबंधित कानूनी प्रक्रिया समझने और यदि वैधानिक तौर पर संभव हो तो आरक्षण की व्यवस्था लागू करने की व्यवस्था की जाएगी।

पेश किए गए आठ विधेयक

विधानसभा विशेष सत्र के प्रथम दिन सदन में पेश किए गए 8 विभिन्न विधेयकों को पारित किया गया। जिसमें मुख्यमंत्री, मंत्रियों, विधानसभा अध्यक्ष, उपाध्यक्ष व विधायकों के वेतन वृद्धि व अन्य भत्ता वृद्धि संबंधित विषयों को शामिल किया गया था। विधेयक प्रस्तुत हुई।

इसी तरह विधायकों के पेंशन राशि व मेडिकल एलोअंस राशि वृद्धि के भी विधेयक पारित की गई। इसी तरह सिक्किम नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी संसोधन विधेयक, सिक्किम रेगुलेशन ऑफ सोसाइटिज, एसोसिएशन एंड आदर वोलेंटरी आर्गनाइजेशन संसोधन विधेयक तथा सिक्किम ग्रीनफिल्ड एयरपोर्ट, पाकिम सेटलमेंट ऑफ क्लेम्स फॉर लास एंड डैमेजेश, सिक्किम पंचायत संसोधन विधेयक समेत अन्य बिल पारित किए गए।