चुनाव आयोग (Eci New Guidelines) ने सोमवार को पांच चुनावी राज्यों में रैलियों पर प्रतिबंध को 11 फरवरी 2022 तक बढ़ा दिया। चुनाव आयोग (Election commission) ने देश में कोरोना के मामलों (Corona cases in india) के चलते ये निर्णय किया है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा (Sushil Chandra) ने चुनाव आयुक्त राजीव कुमार और अनूप चंद्र पांडे के साथ गोवा, मणिपुर, पंजाब, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश (Election in india) के चुनावी राज्यों में वर्तमान में कोरोना स्थिति की एक और व्यापक समीक्षा के बाद नए दिशानिर्देशों की घोषणा की। हालांकि, चुनाव आयोग ने कुछ प्रतिबंधों में ढील दी है।

ये भी पढ़ें

UP Election 2022: मैनपुरी के करहल में अखिलेश को बड़ा झटका देंगे केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल, जानिए कैसे


चुनाव आयोग (Election commission) का कहना है कि सभा में 1000 लोगों को अनुमति दी जाएगी। वहीं इनडोर बैठकों में 500 लोगों को बुलाने की अनुमति होगी। इसके साथ ही डोर टू डोर अभियान (Door To Door Campaign) में बीस लोग शामिल हो सकते हैं।  गत 22 जनवरी को हुई पिछली बैठक के दौरान आयोग ने पांचों राज्यों में प्रत्यक्ष रैली और रोड शो पर जारी प्रतिबंध को 31 जनवरी तक के लिए बढ़ा दिया था। हालांकि, अब जिन विधानसभा क्षेत्रों में पहले दो चरणों में मतदान होने हैं, वहां अधिकतम 500 लोगों की उपस्थिति में जनसभा करने की अनुमति दी थी, साथ ही घर-घर जाकर प्रचार के नियमों में छूट दी थी।

ये भी पढ़ें

11 साल के बच्चे पर कहर बनकर टूटा कोरोना, अल्फा, डेल्टा और अब ओमिक्रॉन से हुआ संक्रमित


चुनाव आयोग (Election commission) ने कहा कि सभी राज्य मुख्य सचिवों ने आयोग को बताया कि संक्रमण दर में गिरावट दिख रही है और अस्पताल में भर्ती होने के मामलों की संख्या में भी गिरावट दर्ज की जा रही है। राज्य के अधिकारियों ने हालांकि कहा कि कोविड प्रोटोकॉल  (covid protocol) सावधानियों को जारी रखने की आवश्यकता है ताकि अत्यधिक राजनीतिक गतिविधि के कारण तीव्र सार्वजनिक संपर्क के कारण कोरोना मामलों में उछाल न हो। चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों से वर्चुअल चुनाव प्रचार पर जोर देने की बात कही थी। गोवा, पंजाब, मणिपुर, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश (Assembly elections 2022) में विधानसभा चुनाव 10 फरवरी से सात चरणों में होंगे। मतों की गिनती 10 मार्च को होगी। चुनाव आयोग ने 10 फरवरी सुबह 7 बजे से 7 मार्च शाम 6:30 बजे तक किसी भी तरह के एग्जिट पोल पर रोक लगा दी है।