संडे हो या मंडे रोज खाओ अंडे लेकिन सावधान हाल ही में शोधकर्ताओं ने एक शोध से पता लगाया है कि अतिरिक्त अंडे का सेवन करने से मधुमेह के खतरे को बढ़ा सकते हैं। जो कि एक दर्दनाक मौत को आसानी से दावत दे सकता है। शोधकर्ताओं ने बताया कि  जो लोग नियमित रूप से प्रति दिन एक या एक से अधिक अंडे खाते हैं, उनके मधुमेह का खतरा 60 प्रतिशत बढ़ जाता है और पुरुषों की तुलना में महिलाओं में इसका प्रभाव अधिक होता है।


चीन के साथ भागीदारी में मेडिकल यूनिवर्सिटी, और कतर विश्वविद्यालय, दक्षिण ऑस्ट्रेलिया विश्वविद्यालय के नेतृत्व में अनुदैर्ध्य अध्ययन (1991 से 2009) चीनी वयस्कों के एक बड़े नमूने में अंडे की खपत का आकलन करने वाला पहला शोध है। एपिडेमियोलॉजिस्ट और सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ मिंग ली ने कहा कि मधुमेह का बढ़ना एक बढ़ती चिंता है।अंडे आहार एक ज्ञात और परिवर्तनीय कारक है जो टाइप 2 मधुमेह की शुरुआत में योगदान देता है।


यही कारण है कि आहार संबंधी कारकों की सीमा को समझना, जो बीमारी के बढ़ते प्रसार को प्रभावित कर सकता है। मिंग ने बताया कि पिछले कुछ दशकों में, चीन में गिरावट आई है पर्याप्त पोषण संक्रमण जो कई लोगों को एक पारंपरिक आहार से दूर ले जाता है जिसमें अनाज और सब्जियां शामिल हैं, अधिक संसाधित आहार में जिसमें अधिक मात्रा में मांस, स्नैक्स और ऊर्जा-घने भोजन शामिल हैं। अंडे की खपत भी लगातार बढ़ रही है।