पड़ोसी देश पाकिस्तान में और फिर भारत के पूर्वोत्तर राज्य सिक्किम में भूकंप के झटके महसूस किए गए। रविवार रात 8.37 बजे अचानक धरती कांप उठी और लोग डर के मारे घरों से बाहर निकल आये। बहुमंजिला इमारतों में झटके ज्यादा महसूस किये गये। इस घटना में सिलीगुड़ी, दार्जिलिंग और सिक्किम कहीं से जान-माल के किसी नुकसान की खबर नहीं है।
 




मौसम विज्ञान विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, पड़ोसी राज्य सिक्किम में भूकंप का केंद्र था। भूकंप के केंद्र से सबसे नजदीक उत्तर सिक्किम जिला मुख्यालय मंगन था। धरती की सतह से करीब 28 किलोमीटर नीचे भूकंप का केंद्र था।  रिक्टर स्केल पर भूकम्प की तीव्रता 4.7 मापी गयी है।



यह ठीकठाक तीव्रता का भूकंप माना जाता है। लेकिन केंद्र के अधिक गहराई में होने की वजह से झटके का प्रभाव कम हुआ। भूकम्प के झटके पश्चिम सिक्किम के गेजिंग, पूर्वी सिक्किम के गंगटोक, दक्षिण सिक्किम के नामची, दार्जिलिंग के साथ सिलीगुड़ी में भी महसूस किये गये।

पाकिस्तान के डेरा गाजी खान इलाके में शाम 7 बजकर 51 मिनट में भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5.2 थी। गौरतलब है कि 10 मई को पाकिस्तान के इस्लामाबाद समेत कई शहरों में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। हालांकि पिछली बार भूकंप की तीव्रता इस बार से कम थी, लेकिन एक के बाद एक कर लगातार जो झटके आए थे। 30 मिनट के अंतराल पर लोगों ने दो बार भूकंप के झटके महसूस किए गए।