चीन में बहुत ही खौफनाक हादसा हुआ है। इस हादसे ने पूरे चीन को हिला कर रख दिया है। प्लेन क्रैश की यह घटना  चीन में 20 साल बाद हुई है। यह घटना China के दक्षिणी प्रांत गुआंगशी झुआंग स्वायत्त क्षेत्र में हुई है। विमान 132 लोग सवार थे। बताया जा रहा है कि जब विमान क्रैश हुआ था और पहाड़ से टकराया था उसके बाद पायलट को होश आया था।

विमान से जुड़े विशेषज्ञ सैली गेथिन ने कहा कि फ्लाइट के आंकड़ों से पता चलता है कि ’10 से 20 सेकंड का समय था, जहां पायलट को होश आया और उन्होंने विमान को जमीन में गिरने और लोगों को बचाने की कोशिश की’। उन्‍होंने कहा कि कि पायलटों को बड़ी मात्रा में ट्रेनिंग मिलती है। इसका अधिकांश भाग सिमुलेटर में होता है, लेकिन वास्तविक दुनिया में वे अचानक होने वाली घटनाओं से अभिभूत या विचलित हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें- त्रिपुरा विधानसभा चुनाव 2023 से पहले बीजेपी हो रही मजबूत, CM बिप्लब देब की मौजूदगी में TPF भाजपा में शामिल


कंट्रोल सिस्टम जाम-


इसे चौंकाने वाले प्रभाव के रूप में जाना जाता है, और इसके लिए ट्रेनिंग देना बहुत कठिन है। इसी तरह से दूसरे विशेषयज्ञों द्वारा बताया जा रहा है कि विमान के क्रैश होना कंट्रोल सिस्टम जाम होने का कारण बन सकता है। माना जा रहा है कि यह हादसा कुदरती था, जो कि विमान की सिस्टम की खराब के कारण माना जा रहा है।  

ऑटो पायलट सेटिंग की खराबी-


ऑटो पायलट सेटिंग की खराबी से भी हादसा हो सकता है। विमान नियंत्रण से बाहर हो गया हो सकता है। स्थानीय ग्रामीण सोमवार को दुर्घटनास्थल पर सबसे पहले पहुंचे, जहां विमान ने इतनी बड़ी आग लगा दी कि सैटेलाइट तस्‍वीरों में आ गईं। बाद में गुआंग्शी और पड़ोसी ग्वांगडोंग प्रांत से सैकड़ों बचावकर्मियों को भेजा गया।