बराकघाटी में बाढ़ से स्थिति बेहद गंभीर होने के कारण राष्टीय नागरिक पंजी ( एनआरसी ) का कामकाज ठीक से नहीं होने के कारण एनआरसी समन्वयक प्रतीक हाजेला ने सवोंच्व न्यायालय को एक आवेदन के जरिए यहां की स्थिति के बारे में अवगत कराया है ।

हालांकि सर्वोच्च न्यायालय की ओर इस आवेदन पर अभी तक किसी प्रकार की प्रतिक्रिया या निर्देश नहीं देने की खबर है । सूत्रों के अनुसार एनआरसी के दूसरे प्रारूप का प्रकाशन आगामी 30 जून को  होना है, लेकिन राज्य में बाढ़ की  स्थिति भयावह होने के कारण इस कार्य में बाधा उत्पन्न हो गई है । बराकघाटी के तीन जिलों में बाढ़ की गंभीर स्थिति को देखते हुए एनआरसी के मसौदे के प्रकाशन में विलंब होने की संभावना है । 

सूत्रों ने बताया कि उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुसार एनआरसी का दूसरा मसौदा 30 जून तक जारी होना है । एनआरसी के प्रदेश समन्वयक प्रतीक हाजेला ने आज मीडिया से कहा कि हम निर्धारित समय- सीमा के भीतर अपना काम पूरा करने का सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहे हैं, लेकिन बराकघाटी में बाढ़ की खराब स्थिति है और अगर बाढ़ की स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो 30 जून की समय-सीमा तक काम पूरा नहीं हो पाएगा । उन्होंने कहा कि अब तक कोई फैसला नहीं किया गया है । यहां की स्थिति के बारे में सर्वोच्च न्यायालय में एक आवेदन दिया गया है ।