खुशखबरी है कि ITR, Tax Audit Report जमा करने की सीमा बढ़ सकती है क्योंकि इस बारे में DTPA ने नीर्मला सीतारमण को पत्र लिखा है। टैक्स पेशेवरों ने कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए कर ऑडिट रिपोर्ट, ऑडिट मामलों में इनकम टैक्स रिर्टन के लिये अंतिम तारीख और सालाना आम बैठक के लिये समयसीमा बढ़ाने की मांग की है। ‘डायरेक्ट टैक्सेस प्रोफेशनल्स एसोसएिशन’ (DTPA) ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से आयकर कानून की धारा 44एबी के तहत कर ऑडिट रिपोर्ट जमा करने की तारीख बढ़ाकर 28 फरवरी और ऑडिट मामलों में आंकलन वर्ष 2020-21 के लिये आयकर रिटर्न भरने की तिथि बढ़ाकर 31 मार्च, 2021 करने का आग्रह किया है।

डीटीपीए के अध्यक्ष एन के गोयल ने सरकार को सौंपे लिखित निवेदन में कहा है कि कोरोना वायरस महामारी के कारण कामकाज अब तक सामान्य नहीं हुआ है। कई पेशेवरों समेत उनके कर्मचारी भी कोरोना वायरस से संक्रमित हुए, ऐसे में टैक्स ऑडिट रिपोर्ट और आईटीआर (ITR) भरने की अंतिम तिथि बढ़ाये जाने की जरूरत है। हालांकि देश के कुल 5.25 करोड़ करदाताओं में से 3.75 करोड़ करदाता पहले ही आयकर रिटर्न दाखिल कर चुके हैं। इसमें व्यक्तिगत करदाता शामिल हैं, शेष ज्यादातर कंपनियां हैं जहां टैक्स ऑडिट की जरूरत है और इसकी तरीख बढ़ाये जाने की मांग है।

पर्सनल इनकम टैक्स रिटर्न भरने की समय सीमा 31 दिसंबर है। पेशेवरों के संगठन ने विवाद से विश्वास योजना के तहत भी घोषणा करने की समय सीमा 31 दिसंबर 2020 से बढ़ाकर 28 फरवरी, 2021 किये जाने की मांग की है।