कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई दुनिया का हर देश लड़ रहा है। चीन से शूरू होकर इस मौत के वायरस ने सारी दुनिया का ताल मेल ही बिगाड़ दिया है। इससे ज्यादा प्रभावित देश चीन, इटली, अमेरीका और स्पेन है। अमेरिकी वैज्ञानिकों ने कहा कि कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी से करीब दो लाख लोगों की मौतें हो सकती हैं। इस खबर ने अमेरीका सहित पूरी दुनिया को चौंका दिया है। इससे और देशों में भी और ज्यादा दहशत हो गई है। 



जानकारी के अनुसार व्हाइट हाउस के टास्क फोर्स के सदस्य एंथनी फौसी और डेबोराह बिरक्स ने कहा कि अमेरिका में स्कूल, रेस्तरां, सिनेमा और सभी गैर-जरूरी गतिविधियों को बंद करने वाले सोशल डिस्टेंसिंग दिशानिर्देशों के बावजूद 100,000 से 240,000 अमेरिकियों की मौत हो सकती है। टास्क फोर्स के सदस्य ने अमेरीका को आगाह किया कि अगर कुछ नहीं किया गया तो अमेरिका में 1.5 मिलियन से 2 मिलयन तक मौत का आंकड़ा जा सकता है। 

देश में इस महामारी से 240000 लोगों की मौत हो सकती है। उन्होंने आगे कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग असरदार है और अब तक यह शायद सबसे अच्छी रणनीति है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आगाह किया है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी का प्रकोप देश में चरम पर पहुंच चुका है और देशवासियों को 'बहुत दर्दनाक' आने वाले दो सप्ताह के लिये तैयार रहना चाहिए।