भारत और इजरायल (India and Israel) ने तकनीकी सहयोग (technical support) को और प्रगाढ बनाने के लिए नवाचार के क्षेत्र में एक द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं। यह समझौता रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) और संगठन के निदेशालय (डीडीआर एंड डी) और इजरायल के बीच हुआ है। 

समझौते पर डीआरडीओ (DRDO) के अध्यक्ष डा जी सतीश रेड्डी ने रक्षा मंत्रालय की ओर से तथा इजरायल की ओर से डा़ डैनियल गोल्ड ने हस्ताक्षर किये। इस समझौते का उद्देश्य दोहरे उपयोग वाली प्रौद्योगिकियों के विकास के लिए दोनों देशों के स्टार्टअप और सूक्ष्म , लघु तथा मध्यम इकाईयों के बीच अनुसंधान एवं विकास के क्षेत्र में सहयोग को बढाना है। 

समझौते के तहत दोनों देशों के स्टार्टअप और उद्योग ड्रोन, रोबोटिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, क्वांटम टेक्नोलॉजी, फोटोनिक्स, बायोसेंसिंग, ब्रेन-मशीन इंटरफेस, एनर्जी स्टोरेज, वियरेबल डिवाइसेस जैसे क्षेत्रों में अगली पीढ़ी की तकनीकों और उत्पादों को विकसित करने के लिए मिलकर काम करेंगे। इन उत्पादों और प्रौद्योगिकियों को दोनों देशों की विशेष जरूरतों को पूरा करने के लिए अनुकूलित किया जाएगा। 

डीआरडीओ (DRDO) और इजराइल इस के लिए संयुक्त रूप से धन की व्यवस्था करेंगे। इस समझौते के तहत विकसित प्रौद्योगिकी दोनों देशों को उनके घरेलू इस्तेमाल के लिए दी जायेगी।