नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वीके पॉल ने कहा है कि कोरोना की दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है।  तीसरी लहर का आना या नहीं आना, हमारे हाथ में है।  तीसरी लहर के लिए तैयारी रहेगी। अगर हम अनुशासन में हैं, दृढ़ निश्चय रखते हैं तो ये लहर नहीं आएगी।  उन्होंने कहा कि चैन ऑफ ट्रांसमिशन वहीं रोकना है।  यूरोप में केस बड़े है।  यूके, इजराइल, रूस में कोरोना मामले बढ़ गए है। इस वायरस से लड़ाई अब भी जारी है। 

शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि भारत में केस में कमी आ रही है।  एक सप्ताह में केस में कमी आई है।  देश के 100 जिलों में 100 से ज्यादा केस आ रहे है।  एक्टिव केस हर दिन कम हो रहे हैं।  अब सिर्फ 5,09,637 एक्टिव केस हैं।  वहीं अब देश मे रिकवरी रेट में लगातार बढ़ोतरी हुई है और अब ये 97% है।  71 जिलों में केस पाजिटिविटी 10% से ज्यादा है।  अभी भी हम दूसरी लहर से जूझ रहे हैं। 

डॉ वीके पॉल ने कहा कि पंजाब के पुलिसकर्मियों पर एक स्टडी हुई जो PGI ने की।  4868 पुलिसवालों को कोई वैक्सीन नहीं मिली और 15 मौत हुई।  3 प्रति हजार पर मौत हुई।  35,856 पुलिसवालों को एक डोज मिली और सिर्फ 9 मौत हुई।  0.25 प्रति हजार 42,720 को दोनों डोज मिली और सिर्फ 2 की मौत हुई।  ये 0.05 प्रति एक हजार पर यानी वैक्सीन से सुरक्षा दे रही हैं।  सिंगल 92 और डबल से 98 प्रोटेक्शन मिल रही है। 

पॉल ने जायडस कैडिला वैक्सीन पर कहा, 'जायडस की एप्लीकेशन डीसीजीआई के पास है।  सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी के द्वारा मूल्यांकन प्रक्रिया हो रही है।  हमें उम्मीद है कि जल्दी और पॉजिटिव फैसला होगा क्योंकि हमारे लिए ये वैक्सीन एक गौरव का क्षण है।  यूनिक टेक्नॉलॉजी है दुनिया में पहली बार। अगर ये वैक्सीन सभी साइंटिफिक पैरामीटर से उभरकर आता है तो हमारे वैक्सीन कार्यक्रम में इसकी वजह से बहुत तेज गति और उर्जा आएगी।  हम इसका इंतजार कर रहे है।  दाम के बारे में अभी उन्होंने हमें नहीं बताया है।  ये उनसे ही पता करना होगा।